Currently Trending

♥️🌟🌟💫🌟🌟♥️
When i See the Moon Smiling
At Me, It Reminds Me at Once
Of Your Brighter and Sweeter
Smile...😊
💤Good Night💤
♥️🌟🌟💫🌟🌟♥️

*संबंध अगर *HANG* होता है तो
*RESTART* करके देखो
क्या पता एक अच्छा *NETWORK* मिल जाये
उसके लिए संबंध *SWITCHOFF* करने की क्या जरूरत ?🙏

 
111
 
18 hours
 
anil Manawat

वो पति जो अपनी पत्नी की बात ध्यान से सुनने का नाटक करते हैं...




उन्हें भी कोई छोटा मोटा पुरस्कार दे देना चाहिये...😛🤑😆😁😜

 
168
 
22 hours
 
anil Manawat

🙌शुभ नवरात्रि🙌

*मेरी मैया कुछ ऐसा कर दे,*

🌹🍃🌹🍃🌹🍃🌹

*सबकी झोली ख़ुशियों से भर दे,*

🙌शुभ नवरात्रि🙌

 
322
 
19 hours
 
anil Manawat

👣🌹👣🌹👣🌹👣
नवरात्रों के आगमन की तैयारी, राम-सीता के मिलन की तैयारी, असत्य पर सत्य की जीत की तैयारी, हो सबको आज इन पवित्र त्यौहारों की बधाई।
नवरात्रि की शुभकामनाएं।
👣🌹👣🌹👣🌹👣

 
306
 
19 hours
 
anil Manawat

#सुन सोनिये#😘
जाने कैसी हैं ये दिल्लागी के
वक़्त बे वक़्त तुम आती जाती
हो इन आँखों में....💞

सच बात तो साफ है,कि किसी से ज्यादा लगाव ही हमारे दुख का सबसे बड़ा कारण होता है..

Delightful Moon 🌙
✨Fortunate Night

May Peace be your
✨Silent Prosperity 🙌
for your soul and
Your Dreams
Back It Up with
Sound Sleep..!!

💙Good Night 💤

कल रात सुनसान सड़क पर एक चोर ने मुझे रोक लिया और बोला
... पैसा दोगे या जिन्दगी

मैने कहा, मैं शादी शुदा हूं, मतलब ना तो पैसा है और ना ही जिन्दगी

उसने मुझे बांहों में भर लिया, हम दोनों खूब रोए
बहुत ही खूबसूरत क्षण थे वो

🤣🤣🤣

ये दिल❤️नहीं, मेरा इबादतखाना है
हमने सच,तुझको ही खुदा माना है।😘

तेरे 👆हर दुख😖 को अपना 😊बना लूँ..
तेरे हर गम 😔को दिल 💕से लगा😘 लूँ..
मुझे 😌करनी आती नहीं 😏चोरी वरना..
मैं तेरी 😢आँखों से हर 😉आँसू 😭चुरा लूँ.

औरत का दूध फट नहीं सकता लेकिन लटक सकता है इस लिए,
.
.
.
.
"पहले सोचिये और फिर नोचिए"!😜

 
71
 
8 hours
 
@HeartBreaker

🙏 જય અંબે 🙏

આપણે આ દિવસ માં કેટલી વાર બોલીયે છીએ ભાઈ.
પણ આનો મતલબ શુ?
આની વ્યાખ્યા શું?
એક *વિદ્વાને* બહુ સરસ જવાબ આપ્યો છે કે *જય માતાજી* નો અર્થ આ થાય
👉🏻 *જ. : જનની-માતા*
👉🏻 *ય. : યશોદા જેવી મમતા વાળી*
👉🏻 *મા. : મારે તોય તુ*
👉🏻 *તા. : તારે તોય તુ*
👉🏻 *જી. : જીવાડે તોય તુ*

આમ *જયમાતાજી* નો અર્થ

*જનની યશોદા જેવી, મારે તોય તુ, તારે તોય તુ, જીવાડે તોય તુ*

નવરાત્રી આવી રહી છે ને એ નવ દિવસ ની રાત મારા માટે પ્રિય છે

*એટલે સૌ થી પેહલા હું* *શુભકામનાઓ પાઠવું છું.....

સારા કર્મો કરનારને
સહકાર અને
નબળા કર્મો કરનારને
શિખામણ
જ મળતી હોય છે, અને આ બન્ને કર્મોના ફળ છે.

🕉 🙏 જય અંબે 🙏 🕉

જ્યારે વ્યક્તિ ની જરૂરિયાત બદલાઇ જાય છે ત્યારે એની બીજા વ્યક્તિ સાથે વાત કરવાની રીત પણ બદલાઇ જાય છે.....

आता नवरात्री मध्ये एवढ्या पावसात मुली नाच नाच नाचतील आणि


पहिल्या दिवशी म्हणतील *परी* हूं मैं......


दूसर्या दिवशी दमतील आणि म्हणतील *घरी* हूं मैं......
आणि

तिसऱ्या दिवशी म्हणतील आता जरा *बरी* हूं मैं......😂😂😂😂😂

तरूण पीढीची सर्वाधीक वाट लावली ती






पोरींच्या आणी आंटींच्या *लेगीऩ्स* ऩी

बग तू मांड्या संघटना😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂

अरे त्या पावसाचा कोणी पट्टा (कमी दाबाचा की जास्त दाबाचा)घेतला असेल तर देऊन टाका
तो पूर्ण मुंबईत शोधतोय...

नाहीतर रागाने पाणी तुंबुन ठेवेल...
आणि परत BMC चे नाव खराब होईल

નીતિ અને કર્મ ચોખ્ખા રાખો,
સમય તમારા દરવાજા
પાસે "ચોકીદાર" તરીકે કામ કરશે.

દિવા નું પોતાનું કોઈ ઘર નથી હોતું
જ્યાં રાખો ત્યાં અજવાળું કરે.

*'मुग़लों के बारे में वो झूठ, जिसे बार-बार दोहराकर आपको रटाया जा रहा है'*

अंग्रेज़ों के साथ लंबे स्वतंत्रता संघर्ष के बाद साल 1947 में इंडिया को आज़ादी मिली. इतने लंबे समय तक संघर्ष चलता रहा शायद इसीलिए हम में ऐतिहासिक ज्ञान की कमी है. और हम पर जितने लोगों ने शासन किया सब को हम कॉलोनिस्ट समझते हैं. \'कॉलोनिस्ट\', यानी वो जो दूसरी जगह जाकर अपनी \'कॉलोनी\' बसाते हैं. ये जगह उनके देश से बहुत दूर होती है.

प्रोफ़ेसर हरबंस मुखिया भारतीय इतिहासकार हैं. वो \'कॉलोनाइज़ेशन\' को कुछ यूं बताते हैं- \'किसी जगह और उस जगह पर रहने वाले लोगों पर शासन करना. शासन ऐसे लोगों का जो उस जगह से बहुत दूर रहते हैं और उनका ऐसी जगह आकर कालॉनियां बसाने का मूल मकसद आर्थिक फ़ायदा पाना होता है.\'

ब्रिटिशर्स इंडिया में कॉलोनिस्ट बनकर रहे. उनका मूल मकसद हमेशा यही रहा कि उनका खुद का आर्थिक फ़ायदा होता रहे. इसके उलट, मुग़ल आए तो इंडिया में शासकों की तरह थे लेकिन यहां वो कॉलोनिस्ट की बजाए खुद इंडियन बनकर रहे. प्रोफ़ेसर हरबंस मुखिया बताते हैं, \'मुग़लों ने इंडिया के साथ अपनी पहचान कुछ इस तरह मिला दी कि वो इंडिया का एक अभिन्न हिस्सा बन गए.\'

मुखिया तो ये भी कहते हैं कि मुग़लों का विदेशी होने का मुद्दा हाल ही में उठना शुरू हुआ है. मुग़ल तो बहुत अच्छी तरह से इंडिया में घुले-मिले हुए थे. वो इंडिया को अपना देश ही मानते थे.

उन्हें विदेशी मानने का कोई कारण भी नहीं था, आखिर अकबर के बाद से सारे इंडिया में ही पैदा हुए थे. यहां तक कि उनमें से बहुतों की माएं राजपूत थीं. और ये उनकी \'भारतीयता\' को पूरा करता है.

लोदी वंश के अंतिम शासक थे इब्राहिम लोदी. इनके शासनकाल के दौरान दौलत खान लोदी लाहौर के गवर्नर थे. दौलत खान इब्राहिम के काम से नाख़ुश थे, जिसके चलते उन्होंने बाबर से कहकर राज्य पर आक्रमण करवाया. साल 1526 में पानीपत के युद्ध में बाबर ने इब्राहिम लोदी को हराकर दिल्ली सल्तनत जीती थी. इस तरह मुग़ल शासन की नींव रखी गई.

ज़्यादातर मुग़लों ने भारतीय शासकों, खासकर राजपूतों से शादी करके समझौते किए. इनकी सेना में राजपूत ऊंची पोस्ट पर रहते थे. अक्सर कच्छवाहा राजपूतों को मुग़ल सेना में सबसे ऊंची पदवी दी जाती थी.

साल 1857 में पहली बार भारतीय सैनिक ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के खिलाफ खड़े हुए थे, वो भारतीय स्वतंत्रता की पहली लड़ाई थी. ये लड़ाई सैनिकों ने अपने बूढ़े और कमज़ोर मुग़ल शासक बहादुर शाह ज़फ़र को हिंदुस्तान का राजा मानकर उनके बैनर तले लड़ी थी.

16वीं शताब्दी से लेकर 18वीं शताब्दी तक, मुग़ल साम्राज्य दुनिया का सबसे अमीर और सबसे शक्तिशाली साम्राज्य था. 17वीं शताब्दी में भारत आए फ्रांसीसी यात्री फ्रेंकोइस बर्नियर ने लिखा है, \'हिंदुस्तान में दुनिया के हर चौथाई हिस्से से सोना-चांदी आता है.\'

शेरशाह और मुग़लों ने कई सड़कों, नदी परिवहन, समुद्री मार्गों और बंदरगाहों का विकास किया था. साथ ही देश के अंदर के कई टोल-टैक्स खत्म कर व्यापार को बढ़ावा दिया था. इनके राज में इंडियन हैंडीक्राफ्ट्स को काफ़ी तवज्जो दी गई. सूती कपड़े, मसाले, नील, ऊनी और रेशम के कपड़े और नमक जैसी चीज़ों का काफ़ी सफल निर्यात होता था.

भारतीय व्यापारी अपनी शर्तों पर व्यापार किया करते थे. साथ ही पेमेंट में सिर्फ़ सोने-चांदी की ईंटें लेते थे. थॉमस रो एक अंग्रेज़ी राजनीतिज्ञ थे. मुग़लों के राज में ये अंग्रज़ों को रिप्रज़ेंट करते थे. साल 1615 से लेकर साल 1618 तक मुग़ल शासक जहांगीर के आगरा के दरबार में एंबेसेडर थे. उनका कहना था कि यूरोप ने एशिया को समृद्ध बनाने के लिए अपना खून बहाया है (Europe bleedeth to enrich Asia).
इंडिया में परंपरागत रूप से व्यापार हिंदू व्यापारी वर्ग के हाथों में था. यहां तक कि फ्रांसीसी यात्री फ्रेंकोइस बर्नियर ने लिखा है, \'इंडिया में व्यापार ज़हां हिंदू संभालते थे, वहीं देश की सेना में ऊंचे पोस्ट पर मुसलमान बैठे थे.\'

अकबर ने एक बहुत कुशल प्रशासन बनाया हुआ था, जो व्यापार को बढ़ाने में उसकी खूब मदद करता था. ये व्यापार ही तो था जिसमें ईस्ट इंडिया कंपनी को इतना इंटरेस्ट था. पहले इन्होंने व्यापारिक रियायतें देने के नाम पर हस्तक्षेप किया और फिर मुग़ल शासन पर कब्ज़ा कर उसे नष्ट कर दिया.

ब्रिटिश लाइब्रेरी में पेंटर स्पीरिडियोन रोमा की एक बहुत इंटरेस्टिंग पेंटिंग रखी है. इसका नाम है The East Offering Her Riches to Britannia. ये साल 1778 के पेंटिंग है. ब्रिटानिया शब्द को यूनाइटेड किंगडम की फ़ीमेल अवतार के लिए इस्तेमाल किया जाता है. जैसे हम \'भारत माता\' करते हैं.

इस पेंटिंग में इंडिया को भी फ़ीमेल अवतार में दिखाया है. इंडिया घुटनों पर बैठकर अपना ताज और उसके साथ कुछ हीरे-जवाहरात ब्रिटानिया को ऑफ़र कर रही है. असल में इंडिया की दौलत दिल्ली सल्तनत या मुग़लों ने नहीं लूटी थी बल्कि इसे लूटना तो ईस्ट इंडिया कंपनी ने शुरू किया था.

एडमंड बर्क आयरलैंड में जन्मे एक आयरिश राजनेता थे, साथ ही एक लेखक, वक्ता और फ़िलॉसफ़र भी. बाद में वो लंदन चले गए थे और वहां कई सालों तक हाउस ऑफ कॉमन्स में संसद के सदस्य के रूप में सेवा की. वो 1780 के दशक में ऐसा कहने वाले पहले शख्स थे, \'इंडिया जड़ से पूरी तरह बर्बाद हो चुका है. ऐसा ईस्ट इंडिया कंपनी के कारण हुआ जो इस देश की दौलत बहाए जा रही है.\'

ब्रिटिश कॉलोनी बनने से पहले इंडिया की आर्थिक स्थिती कैसी थी.
कैम्ब्रिज के इतिहासकार एंगस मैडिसन ने अपनी किताब Contours of the World Economy 1-2030 AD: Essays in Macro-economic History में लिखा है कि साल 1000 से 1500 के बीच इंडिया की आर्थिक स्थिती सबसे मज़बूत थी. तब इंडिया पर मुग़ल शासन कर रहे थे. 18वीं शताब्दी तक इंडिया चीन को पछाड़ते हुए दुनिया में सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका था.

2016 में इंडिया की GDP 7.2% थी. वहीं 1952 में इंडिया की GDP 3.8% की.

जब ये बात समझ में आ चुकी है कि मुग़लों ने हमारी दौलत नहीं लूटी थी, तो अब बात करते हैं उन बड़े-बड़े स्मारकों की जो इन्होंने बनाए. इन स्मारकों की वजह से हमें हर साल करोड़ों रुपए मिलते हैं.

लोकसभा में कल्चरल मिनिस्ट्री ने जो आंकड़े दिखाए थे, उसके मुताबिक ताजमहल के औसतन हर साल 21 करोड़ रुपए के टिकट बिकते हैं. (साल 2016 में ताजमहल के दर्शकों में गिरावट आई और आंकड़े 17.8 करोड़ रुपये पहुंच गए थे.) ऐसे ही कुतुब मिनार से 10 करोड़ रुपए और लाल किला और हुमायूं के मकबरे से लगभग 6 करोड़ रुपये मिलते हैं.

*बेहतर है कि हम इतिहास को किताबों में पढ़ें, जहां हमेशा सही फैक्ट्स मिलते हैं. न की वॉट्सएप के मैसेजस में जहां अक्सर गलत जानकारियां घूम रही होती हैं*

I don\'t need paradise because I found you. I don\'t need dreams because I already have you.❤

माँ दुर्गा आपको अपनी 9 भुजाओं से..

1. बल
2. बुद्धि
3. ऐश्वर्या
4. सुख
5. स्वास्थ्य
6. दौलत
7. अभिजीत
8. निर्भीकता
9. सम्पनता
प्रदान करे...

🚩 *॥ जय माता दी॥* 🚩
*नवरात्रि की शुभ कामनायें॥*

*नम्र निवेदन*


*पेड़ और झाड़ियां बचाइए*

🌴 🌲 🌳 🌱 🌿

🌳 🌱 🌴 🌿 🌲


*होटलों में आई.डी. वगैरह देने का लोचा रहता है*



( *जो समझ गये like करो, नही तो पोगो देखो पोगो* )
😜😜

आपको सपरिवार *नवरात्रि* की *हार्दिक शुभकामनाएं एवं बधाई! सर्व शक्तिस्वरुपा माता जी के नौ अवतारो का आशीर्वाद* सदैव आप पर बना रहे!
🌹🌹🙏🙏🌹🌹
*माता जी की कृपा से आपको अपार सफलता, यश, वैभव, सुख, शांति, स्नेह की प्राप्ति हो!!*
*🚩🚩🚩🚩🚩🚩*

 
343
 
9 hours
 
25th NOVEMBER

ज्ञान के भंडार , बाबा रामदेव ने दाल महंगी होने पर दाल में पानी मिलाकर खाने का उपदेश दिया था



अब पेट्रोल में गोमूत्र डालकर गाड़ी चला लें क्या बाबाजी ?

😡 🤢 👹

*🕉 નવલી નવરાત્રિ 🕉*
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱


*આજે*......
*તા. ૨૧-૦૯-૨૦૧૭*
આસો સુદ એકમ ગુરુવાર
શરૂ થતાં માં ભગવતીના
અવસરનો મહિમા
*આદ્યશક્તિ અંબાજીની*
પૂજા"અર્ચના"ભક્તિ"નિવેદ
પ્રસાદ અને ગરબા
એવી નવ નવ દિવસની
*નવરાત્રી ની*
આપ સૌને
અમારા તરફથી.
*શુભેચ્છા પાઠવું છું.*
માં નવ દુર્ગા
આપ સૌના પરિવારમાં
સુખ, શાંતિ,સમૃધ્ધિ અર્પે.
*જય માં અંબે ભગવતી*
*જય માતાજી*
🙏🏻💐🙏🏻💐🙏🏻

*🕉નવલી નવરાત્રિ🕉*
🔱🔱🔔🐚🔔🔱🔱

🕉 *જય આદ્યશક્તિ અંબે માં* 🕉

આજ તારીખ:- ૨૧-૦૯-૨૦૧૭ થી શરૂ થતી *નવરાત્રી* ની આપ સૌને મારા તરફથી *શુભેચ્છા* પાઠવું છું. માં નવ દુર્ગા આપ સૌના *પરિવારમાં* સુખ, શાંતિ,સમૃધ્ધિ અર્પે.

*🙏જય અંબે માં🙏*
*🙏જય માતાજી🙏*

जब भी उनका चेहरा देखा, अलग ही नज़र आया,
इन्सान ने भी क्या,,.... रंग बदलने का हुनर पाया।।

लोग डाबर और पतजंलि में उलझें रहे.... और. सबसे बढ़िया हनी तो राम रहीम वाली थी...😜😜😜

एक दिन ऐसा भी आएगा जिस दिन तू मेरे कंधे पे सर रखकर रोना चाहेगी
लेकिन उस दिन मैं कहूंगा की माफ़ करना ये कन्धा अब किसी और का हो गया है
💔💔😢😢😢😢

 
37
 
22 hours
 
Raju Hindustani
BACK TO TOP