Wisdom (17 in 1 week | sorting by most liked)

*खुद के बारे में न किसी पीर से पूछो न किसी फकीर से पूछो।*

*बस कुछ देर आंखें बंद कर अपने जमीर से पूछो।।*👌🙏

 
231
 
6 days
 
anil Manawat

*दुनिया वो किताब है,*
*जो कभी नहीं पढी़ जा सकती.*

*लेकिन जमाना वो उस्ताद है,*
*जो सबकुछ सिखा देता है.!*🙏

 
200
 
4 days
 
anil Manawat

*कुछ लोग "चश्मे के नंम्बर" जैसे होते हैं*,

*वक़्त गुजरते ही "नजदीक" से "दिखने बंध" हो जाते हैं*!🙏

 
131
 
3 days
 
anil Manawat

हमें यह नहीं सोचना चाहिए की हम कितने ख़ुश हु ,

हमें यह सोचना चाहिए की हमारे वजह से दूसरे कितने ख़ुश है !🙏

 
126
 
5 days
 
anil Manawat

"व्यक्तित्व" की भी
अपनी वाणी होती है,

जो "कलम"' या "जीभ"
के इस्तेमाल के बिना भी,
लोगों के "अंर्तमन" को
छू जाती है..!!!*

🙏सुप्रभात🙏

 
111
 
6 days
 
"Chaand"

*वक्त..,*
*ऐतबार...*
*औऱ इज्ज़त"*

*यें ऐसे परिंदे हैं,*

*जो उड़ जायें तो*

*वापिस नहीं आते।*

 
108
 
2 days
 
SPARSH

उम्मीद क्या करनी,
गैरो से,
जब गिरना,
और,
चलना है,
अपने ही पैरों से...

 
100
 
2 days
 
Paraskumar Pande

*🌹अपनी फतेह पर अगर गुरुर आने लगे तो, चुपकेसे मिटटी से पूछ लेना आजकल सिकंदर कहाँ है ?*🙏
*Life doesn't require that we be the best only that we try our best*....🙏

 
80
 
2 days
 
anil Manawat

जहां हमें समझने की जरूरत होती है ,





वहां हम समझाने लग जाते है




इसलिए हम नासमझ ही रह जाते है....

🙏🙏🙏🙏🙏

 
76
 
3 days
 
25thNOVEMBER

*अगर आपको अपने काम पर ये भरोसा है कि जो किया वो सही है और फिर भी लोग आपकी निंदा में लगे है तो चिंता न करे,,,!*
*क्योंकि याद रखिये क़ि हर खेल में दर्शक ही शोर करते है खिलाडी तो अपना खेल ही खेलते है,,,,,,!!*
*🙏🙏

 
76
 
a day
 
DDLJ143
LOADING MORE...
BACK TO TOP