Wisdom (76 in 1 month | sorting by most liked)

बहुत से रिश्ते इसलिए ख़त्म हो जाते है

क्यूँकि एक सही बोल नहीं पाता

दूसरा सही समझ नहीं पाता...🙏

 
479
 
21 days
 
anil Manawat

*अजीब उलझन है ज़िंदगी की*

बढती हुई उम्र कहती है
अब सीरियस हो जाइये!

*जबकि*। खत्म होती उम्र कहती है,
कुछ मस्ती और कर लो!!🙏

 
463
 
11 days
 
anil Manawat

*झुकने से रिश्ता हो गहरा ......तो झुक जाना चाहिए

पर हर बार "आपको" ही झुकना पड़े तो ....रुक जाना चाहिए*🙏

 
455
 
22 days
 
anil Manawat

*1 9 9 0 में ~*
*लड़कियां डरती थी कि*
*सास कैसी मिलेगी* 😂 😂

*2 0 1 7 में ~*
*सास डरती है कि*
*लड़की कैसी मिलेगी* 😂 😂

 
440
 
25 days
 
DDLJ143

*"मैंने कुछ लोग लगा रखे हैं.....'पीठ पीछे' बात करने के लिए,*

*'पगार' कुछ नहीं है उनकी..... पर काम बड़ी 'ईमानदारी' से करते हैं"*🙏

 
421
 
26 days
 
anil Manawat

दो बातों की गिनती करना छोड़ दिजिये....

खुद का *दु:ख*
और....
दूसरे का *सुख*

ज़िन्दगी आसान हो जाएगी...🙏

 
415
 
19 days
 
anil Manawat

*वो कुँए का मैला कुचैला पानी पीेकर भी 100 वर्ष जी लेते थे*

*हम RO का शुद्ध पानी पीकर 40 वर्ष में बुढे हो रहे है*
🤔

*वो घाणी का मैला सा तेल खाकर बुढ़ापे में भी दौड़-मेहनत कर लेते थे*

*हम डबल- ट्रिपल फ़िल्टर ऑइल खाकर जवानी में भी हाँफ जाते है*
🤔

*वोे मोटा खुरदरा नमक खाकर भी बीमार नही पड़ते थे*

*हम आयोडीन युक्त खाकर भी हाई- लो बीपी लिये पड़े है*
🤔

*वो नीम~बबूल,कोयला,नमक से दाँत चमकाते थे और 80 वर्ष*
*तक भी चबा-चबा कर खाते थे*

*और हम कॉलगेट सुरक्षा वाले , रोज डेंटिस्ट के चक्कर लगाते है*
🤔

*वो नाड़ी पकड़ कर*
*रोग बता देते थे*

*और आज जाँचे कराने पर भी रोग पकड़ में नही आता*
🤔

*वो 7- 8 बच्चे जनने वाली माँ , 80 साल की उम्र में भी घर- खेत का काम करती थी*

*आज पहले महीने से डॉक्टर की देख-रेख में रहती हैं , फिर भी बच्चे पेट फड़वा कर जनती हैं*
🤔

*पहले काळे गुड़ की मिठाइयां पेट भर के खा जाते थे*

*आजकल तो खाने से पहले ही सुगर की बीमारी हो जाती है*
🤔

*पहले बुजर्गो के भी*
*घुटने कंधे नहीं दुखते थे*

*और आज जवान भी घुटनो और कन्धों के दर्द से कराहता है*
🤔 🤔 🤔 🤔


*और भी बहुत सी समस्याये है फिर भी लोग इसे विज्ञान का युग कहते है*

*समझ नहीं आता ये विज्ञान का युग है या अज्ञान का ?????*

 
402
 
23 days
 
25th NOVEMBER

*"झूठी" बात पर जो "वाह" करेंगे....*

"वही" लोग आपको "तबाह" करेंगे !!...🙏

 
393
 
23 days
 
anil Manawat

"सम्मान" का दरवाज़ा
इतना छोटा और तंग होता है कि"......

"उसमें दाखिल होने से
पहले सर को झुकाना पड़ता है".......
🙏

 
387
 
28 days
 
"Ipsh!t@"

*एक किताब की तरह हूँ मैं*,
*कितनी भी पुरानी हो जाए*..
*पर उसके अलफ़ाज़ नहीं बदलेंगे*..
*कभी याद आये तो, पन्ने पलट कर देखना*..
*हम आज जैसे है, कल भी वैसे ही मिलेंगे*..🙏

 
372
 
30 days
 
anil Manawat
LOADING MORE...
BACK TO TOP