Wisdom (20814)

🌹 *मन की निर्मलता और स्वभाव की पवित्रता ही इन्सान का सच्चा श्रृंगार है।* 🌹

जो दिल का सच्चा होगा,
वो झगड़ा चाहे रोज़ करेगा,

लेकिन कभी साथ छोड़कर
नहीं जाएगा.❇️

 
22
 
9 hours
 
anil Manawat

*इंसान जब भी किसी का साथ देने*
*का मौक़ा मिले, तो साथ नहीं देता..!!*

*पर किसी को बर्बाद करना हैं तो अपनी*
*सारी ताक़त लगा देता हैं...!!*

 
41
 
a day
 
anil Manawat

संस्कार और विवेक का पता तब चल जाता है

जब


कोई अपने 6 साल के बच्चे से
*आप* कहकर

और

किसी 60 साल के मजदूर को
*तू* कहकर बात करता है 🙏🙏🙏

 
47
 
a day
 
25thNOVEMBER

🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻

*पुण्य*
*छप्पर फाड के देता है*

*और*
*पाप थप्पड मार कर लेता है*

🌻🌻🌿#सुप्रभात🌿🌻🌻

🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻

*"दुनियां मेंं"*
हर कोई गलत हैं..

*सही वो हैं..*
जो *कम* गलत हैं! 🙏🏼

 
67
 
2 days
 
SPARSH

मैं उन भटके हुए लोगों में से नहीं हूँ
जो लौट आएँगे शाम तक घर...
.
.
.
मैं बस चलता जाऊंगा जब तक मुझे मेरी मंजिल नहीं मिल जाती

 
26
 
2 days
 
Aksnice1

एक कटोरे में दो सुनहरी मछली:
सुनहरी 1: क्या आप ईश्वर में विश्वास करते हैं?
सुनहरी 2: बेशक, मैं करता हूँ! आपको क्या लगता है पानी को कौन बदलता है?

 
22
 
2 days
 
parmeshowar joshi

एक और पल निकल गया,
एक और दिन ढल गया,
इस ज़िंदगी की किताब से
एक और पन्ना निकल गया..!
इसीलिए हर पल हस्ते रहो..!!🙏

 
37
 
2 days
 
anil Manawat

*केवल रक्त सम्बंध से ही*
*कोई अपना नही होता*
*प्रेम, सहयोग, विश्वास, निष्ठा*
*सुरक्षा, सहानुभूति*
*और*
*सम्मान*
*ये सभी ऐसे भाव है जो*
*परायो को भी अपना*
*बनाते हैं !!*।
💐🌻 जय श्री कृष्णा 🌻💐

LOADING MORE...
BACK TO TOP