Shayari (19172)

सोच तो लूँ तुम्हें अपना बनाने की...
रूह से छूकर,
दिल मे उतर जाने की...
कहती है दुनिया...
फरिश्ते हैं कुछ इंसान के भेष में...
यूँ ना सोच इन्हें इतना ज़मीन से उठाने की...

 
26
 
a day
 
uk_express

हम उन को सोच में गुम देख कर वापस चले आए
वो अपने ध्यान में बैठे हुए अच्छे लगे हम को

 
33
 
2 days
 
V!shu

कसक बनके बसे हो दिल मे....
साँस बनके बसते तो क्या बात होती....

 
81
 
6 days
 
uk_express

guroor kalam pe apni
mujhe bas itna sa hai
k muqaabla khuda se ho
to bhi umeed mujhe poori hogi

 
19
 
7 days
 
Mirza Galib

फ़िराक़ में खुद को यूं उलझा रहा हूँ,
तेरी तस्वीर बना रहा हूँ मिटा रहा हूँ ।

 
88
 
8 days
 
sweet guy

तेरी आँखों के इशारों का सबब..
मुझ तक ही खोया है..
कोई और समझने लगे...
तो फना हो जाए....

 
135
 
11 days
 
uk_express

मर गए हम.. खुली रही आँखे...

ये तेरे इंतज़ार की हद थी...

 
108
 
11 days
 
Pankaj soni

Vaada Karne Wale Log Apne Vaado Se Mukar Jaate Hain,
Aise Hi Log Kyu Zindagi Me Baar Baar Aa Jaate Hai.

 
78
 
13 days
 
Mr. B

सारी उमर करके बरबाद इश्क की इज्जत चख़ ली
उसने भी बुरक़ा पहन लिया हमने भी दाढ़ी रख ली....!!

 
151
 
14 days
 
MustfaHindustani

यकीन करो आज उसने तुम्हें छोड़ा है,,,

कल कोई और उसे भी छोड़ देगा...

 
97
 
17 days
 
Pankaj soni
LOADING MORE...
BACK TO TOP