Shayari (895 in 1 year | sorting by most liked)

*एक चाहत होती है दोस्तों के साथ जीने की जनाब..*

*वरना पता तो हमें भी है की मरना अकेले ही है..!*

 
594
 
172 days
 
aaakash

हम रूठ भी जाएं तो ......हमें मनाएगा कौन,,

बस इसी फिक्र में ......खुश रहते हैं...!!

 
564
 
246 days
 
aaakash

ज़िन्दगी जीनी हैं तो तकलीफें तो होंगी...

.

.

वरना मरने के बाद तो जलने का भी एहसास नहीं होता...

 
550
 
226 days
 
aaakash

*क्या बेचकर हम खरीदे तुझे ऐ जिंदगी,*

*सब कुछ तो 'गिरवी' पडा है 'जिम्मेदारी' के बाजार में!!!!!*👍👍

 
542
 
346 days
 
@HeartBreaker

*ये ना पूछना*

*ज़िन्दगी ख़ुशी कब देती है,*

*क्योकि शिकायते तो उन्हें भी है*

*जिन्हें ज़िन्दगी सब देती है*..

 
541
 
209 days
 
aaakash

जो भी कहिये हमसे....सोच के कहिये...
हर बात आपकी हम....दिल से लगा लेते है......!!😒

 
539
 
363 days
 
Anonymous

*मैं खुश हूँ कि कोई मेरी...
*बात तो करता है...
*बुरा कहता है तो क्या हुआ...
*वो याद तो करता है ..💞

 
534
 
359 days
 
"Ipsh!t@"

बहुत मिलेंगे तुम्हे इस दुनिया में वफ़ा के नाम पे लुटने वाले,
पर कोई तेरे खातिर अपनी आँख नम करे तो उसे मेरा सलाम कहना !!

 
512
 
321 days
 
aaakash

यकीन करना सीखिए साहिब

शक तो सारी दुनिया करती है...!!!

 
509
 
337 days
 
aaakash

एहसासों की नमी बेहद जरुरी है हर रिश्ते में ,,
रेत भी सूखी हो तो हाथों से फिसल जाती है !!✍🏻

 
501
 
356 days
 
"Ipsh!t@"
LOADING MORE...
BACK TO TOP