Shayari (19 in 1 week | sorting by most liked)

*खतरे के निशान के*
*बहुत करीब बह रहा है*
*उम्र का पानी।*

*और, वक़्त की बरसात है कि*
*थमने का नाम ही नहीं ले रही ।।*

 
233
 
5 days
 
aaakash

गलतफहमियों से नही बनती
ज़िन्दगी की कहानियाँ
खुद लिखनी पड़ती हैं
खुद की कहानियाँ...✍🏻

 
218
 
5 days
 
"Ipsh!t@"

जो काबू में ना आये
वो हालात क्या

जो आँखों से बह जाये
वो ज़ज़्बात क्या

जो समझ ना आये
वो ख़्यालात क्या

जो गुस्से में बदल जाये
वो इंसान क्या

 
205
 
4 days
 
Jasmine

रखो न दिल में ख़लिश
उसको तुम निकाल दो
छोटी सी ज़िंदगानी
हँस के उसे गुज़ार लो..🌹

 
177
 
5 days
 
"Ipsh!t@"

मेरी झुकी नजर
कर देती हैं ब्याँ......
कुछ अनकहे क़िस्से
तेरी मेरी मुलाक़ात के.😘💕...

 
174
 
6 days
 
"Ipsh!t@"

गलियाँ वही हैं मगर अब बदल गये हैं लोग....
लगता है किसी और शहर आ गया है हम।।😐

 
151
 
6 days
 
User27883

अजब से है हालात आजकल कुछ समझ नहीं आता .......
आख़िर क्यूँ ऐसे हालात में कोई अपना नज़र नहीं आता .....

 
143
 
a day
 
Abhilekh.......

सौ घूँट पिया शराब का इल्ज़ाम न कोई हुआ
एक प्याला छलका इश्क़ का, बदनाम हो गया!!!!

 
131
 
2 days
 
aaakash

मैं हूँ दिल है तन्हाई है
तुम भी होते अच्छा होता

 
119
 
3 days
 
Basu

Aag me Kaha tha Dum jo Mujhe Jala sake..
Uske Lafzo ne Lekin Mujhe Raakh kar diya..

 
116
 
6 days
 
_anas_ahsan
LOADING MORE...
BACK TO TOP