Shayari (25 in 1 week | sorting by most liked)

*ग़र लगता है तुम्हें,*

*गलत हूँ मैं.*.

*तो सही हो तुम,*

*थोड़ा अलग हूँ मैं.*

 
259
 
6 days
 
aaakash

*लोग रह गए इतराते अपनी चालाकियों पर*

*वो समझ ही न पाये कि वो क्या गँवा बैठे हैं.*
✍🏻✍

 
230
 
6 days
 
J_sT@R.

*शीशा और पत्थर संग संग रहे तो बात नही घबराने की.....!!*

*शर्त इतनी है कि बस दोनों ज़िद ना करे टकराने की.....!!*

 
222
 
2 days
 
_N@jmi_

*बिकते हम भी हैं....*

*साहब*

*बस कीमत मोहब्बत हैं....*

 
221
 
6 days
 
aaakash

*" दिलकश नग़मे, दिलफ़रेब मौसम और कुछ पुराने दोस्त,*

*यक़ीं करने को काफ़ी है, कि ज़िन्दगी ख़ूबसूरत है "*

 
220
 
4 days
 
aaakash

नसीहत देता हूँ इसका मतलब ये नही की मैं समझदार हूँ

बस मैंने गलतियाँ आपसे ज्यादा की है..!

 
219
 
4 days
 
Jasmine

"याद आता है वह प्यार उनका कि उसके प्यार को दिल से मिटाऊं कैसे,
वह तो औरों के साथ खुश है पर मैं अपना दिल गैरों से लगाऊ कैसे"

 
189
 
5 days
 
DDLJ143

खेलने दो उन्हे जब तक जी न भर जाए उनका,


मोहब्बत चार दिन की थी तो शौक कितने दिन का होगा !!❤

 
182
 
4 days
 
aaakash

तुम सचमुच जुड़े हो गर मेरी जिंदगी के साथ,
तो कुबूल करो मुझको मेरी हर कमी के साथ !!🌷

 
166
 
2 days
 
"Ipsh!t@"

*दौलत तो ले के निकले हो तुम जेब में मगर,*

*मुमकिन नहीं किसी का मुक़द्दर ख़रीद लो....*

 
144
 
5 days
 
_N@jmi_
LOADING MORE...
BACK TO TOP