Shayari (24 in 1 month | sorting by most liked)

*बदल दिया है मुझे,*मेरे चाहने वालो ने ही,*वरना मुझ जैसे शख्स में,*
*इतनी खामोशी कहाँ थी..*
💖☝🏻🍁

 
333
 
12 days
 
Ak47

थोड़ा गम 😔 भी दिखाना पड़ता है साहब इस दुनिया को,
हरपल खुश 😊 रहने वालों को यहाँ लोग पागल 😏 समझा करते है..

 
287
 
17 days
 
J_sT@R.

वो जो बैठ जाते हैं घड़ी दो घड़ी पास मेरे...

सारा आलम हसीन सा लगने लगता है ....

 
278
 
28 days
 
Parveen Unlucky

💕💕 कितनी बेचैनियाँ हैं आज भी मेरे जेहन में तुझे लेकर..

मगर तेरे पहलु मे जो सुकून मिला वो और कहीं मिला नहीं मुझे..........💞💞

 
228
 
16 days
 
Sunil

मेरे लफ़्ज़ों पर रूठने वाले
अब तू मेरी ख़ामोशी पर जश्न मना।

 
224
 
16 days
 
Mirza Galib

"अश्क बन कर आँखों से बहते हैं,
बहती आँखों से उनका दीदार करते हैं,
माना की ज़िंदगी मे उन्हे पा नही सकते,
फिर भी हम उनसे बहुत प्यार करते हैं."

 
222
 
26 days
 
Mits9022

*हम जिसे छिपाते फिरते हैं उम्रभर,वही बात बोल देती है*,

*शायरी भी क्या गजब होती है,हर राज खोल देती है*,👌

 
221
 
9 days
 
DDLJ143

संभल कर किया करो, गैरों से हमारी बुराई,
तुम्हारे जो अज़ीज़ है, वो हमारे मुरीद है साहिब..

 
220
 
12 days
 
Jasmine

जाने किस गम को छुपाने की, तमन्ना है उसे,
आज उसे हर बात पर,हँसते हुए देखा है मैने..!!

 
200
 
30 days
 
Parveen Unlucky

💁‍♂️ मैं अन्धेरा हूं तो अफसोस क्यूं करूं..!
मुझे गुरूर है..रोशनी का वजूद मुझसे है..

 
193
 
29 days
 
Parveen Unlucky
LOADING MORE...
BACK TO TOP