Shayari (33 in 1 month | sorting by most liked)

*न बोलूँ , न लिखूँ ...*
*तो ये मत समझना ...*
*कि भूल गए हम ...;*

*खामोशियों ने भी ...*
*कुछ जिम्मेदारी ले रखी है ...*

 
222
 
30 days
 
Paraskumar Pande

बेकार बंदूके ताने खड़ी है दुनिया....,
......तबाह तो मुस्कुराहटें भी करती हैं ।।।

 
159
 
24 days
 
anika

चुभते हुए ख्वाबों से कह दो .. अब आया ना करे..!!

हम तन्हा तसल्ली से रहते है....बेकार उलझाया ना करे..!!

 
152
 
14 days
 
Paraskumar Pande

🌿🌿 मेरी जगह तुम होते तो......
यकीन करो थक गए होते ....🌿🌿

 
114
 
17 days
 
anika

कब तक ज़ुबां में क़ैद रखोगे..!!
💕💕
मेरे जिक्र को मुझ तक आने तो दो....!!!!

 
109
 
27 days
 
Paraskumar Pande

*महफूज कर रहा हूँ बादलो को अपने अंदर,*

*जब मिलोगे, गले लग कर बरस जाउंगा*
...✍🏻MJM

 
106
 
22 days
 
amit 19

*मन्दिर के दीये जैसी हैं याद तुम्हारी..!*

*बुझाना भी चाहूँ तो लोग फिर से जला देते है..!!*

 
101
 
22 days
 
Paraskumar Pande

खुदा ने इश्क में हमे 🙆‍♂️कितना मजबूर 😂😂😂 बनाया है, जो नजरों से दूर है, उसी💃 को दिल 💘में बसाया है ।😂😂😂

 
96
 
22 days
 
Vinit Uniyal

_मेरे बिना क्या अपनी ज़ुल्फ़ें संवार लोगी तुम?_
_इश्क़ हूँ, कोई ज़ेवर नहीं जो उतार लोगी तुम....!!_

 
93
 
14 days
 
Paraskumar Pande

_*लफ़्ज़ों को यू कम ना आकिए साहब,*_

_*चंद जो इक्कठे हो जाए तो 'शेर' हो जाते हैं..*_

 
86
 
30 days
 
ˢᴵᴸᴱᴺᵀ ᴸᴼᵛᴱᴿ
LOADING MORE...
BACK TO TOP