Shayari (80 in 1 month | sorting by most liked)

ज़िन्दगी जीनी हैं तो तकलीफें तो होंगी...

.

.

वरना मरने के बाद तो जलने का भी एहसास नहीं होता...

 
423
 
14 days
 
aaakash

इतनी जगह तो बना ही ली है आपके दिलो में?????

कल को ना भी रहू तो भी याद तो करोगे..❤🌹

 
356
 
19 days
 
aaakash

कभी उम्मीदें उधड़ जायें तो
बेझिझक चले आइयेगा

हम हौसलों के दर्जी हैं
मुफ़्त में रफ़ू करते हैं.....

 
333
 
6 days
 
Jasmine

खामोश ही रहे. इज़हार न कर ख्यालात का...
जाने कौन क्या मतलब निकाल ले तेरी किसी बात का....

 
298
 
14 days
 
Unpredictable

दिलों के बंधन में दूरियां नहीं गिनते...
जहाँ उम्मीद हो वहाँ मजबूरियां नहीं गिनते !!

 
292
 
21 days
 
"Am@rdeep"#

माँ की तरह कोई और ख़याल रख पाये ,,, ये तो बस ख़याल ही हो सकता है !❤️🤘🏼

 
292
 
13 days
 
aaakash

*बंद लिफाफे में रखी चिट्ठी सी है ये जिंदगी..*

*पता नहीं अगले ही पल कौन सा पैगाम ले आये !!!!!

 
287
 
30 days
 
"Ipsh!t@"

इस हक़ीक़त से खूबसूरत कोई ख़्वाब नहीं....
इश्क़ मर्जी है ख़ुदा की कोई इत्तेफाक नहीं..!!

 
279
 
6 days
 
"Am@rdeep"#

तेरी शायरी में इश्क़ भी है और मोहब्बत भी है

तभी तो हम कभी महकते भी है और कभी बहकते
भी है

 
272
 
17 days
 
Unpredictable

तुम सुनो तो बतायें ज़ज़्बात क्या हे सारा दिन,
तुम समझो तो समझाये हालात क्या हे तुम बिन..

 
270
 
18 days
 
Unpredictable
LOADING MORE...
BACK TO TOP