Shayari (48 in 1 month | sorting by most liked)

*एक चाहत होती है दोस्तों के साथ जीने की जनाब..*

*वरना पता तो हमें भी है की मरना अकेले ही है..!*

 
517
 
22 days
 
aaakash

*बेचैनियां बाजार में, नहीं मिला करती यारों..*

*बाँटने वाला, कोई बहुत नज़दीकी होता है....*

 
412
 
20 days
 
Anonymous

गेरो ने नसिहत दी,, और दिया अपनो ने धोखा....

ये दुनिया है साहब, यहाँ चाहिए हर किसी को मोका🌱

 
364
 
30 days
 
Aj Chanderi

*वो सोचते हैं कि मुंह फेरकर भूल पाएंगे हमें...!!*
💞
💞
💕
💞
*कौन समझाए उन्हें कि आँख बंद करने से रात नहीं होती...!!!!*

 
331
 
22 days
 
Anonymous

रहे न कुछ मलाल, बड़ी शिद्दत से कीजिये...!!

नफरत भी कीजिये तो
ज़रा मोहब्बत से कीजिये....!!!

 
300
 
9 days
 
Ajaj Chanderi

जिसे पाना नामुमकिन हो,
उससे प्यार नहीं इश्क़ हो जाता है. 💝

 
290
 
16 days
 
DDLJ143

*घर का आईना भी,अब हक जता रहा है*

*ख़ुद तो वैसा ही है, पर मेरी उम्र बता रहा है.*

 
284
 
18 days
 
Mits9022

एक दिन उम्र ने तलाशी ली,
तो जेब से लम्हे बरामद हुए

_कुछ ग़म के थे,_
_कुछ नम से थे,_
_कुछ टूटे हुए थे,_

जो सही सलामत मिले....

वो बचपन के थे..!!
👌

 
277
 
10 days
 
DDLJ143

💔💫


*_मरहम भी मिल जाता है ज़ख्मों को सी भी लेते हैं,,_*


*_तुझे मुस्कुराता देख लेते हैं तो थोड़ा जी भी लेते हैं,,,!_*


*_.........✍🏼_*

 
260
 
18 days
 
prince j

आहिस्ता आहिस्ता रूह में उतरा था इश्क ,
आहिस्ता आहिस्ता 'जान' निकल रही है अब.

 
257
 
30 days
 
Parveen Unlucky
LOADING MORE...
BACK TO TOP