Shayari (3 in 1 day | sorting by most liked)

जो भी कहिये हमसे....सोच के कहिये...
हर बात आपकी हम....दिल से लगा लेते है......!!😒

 
114
 
14 hours
 
Anonymous

रात के इस दरवाज़े के नीचे से सरक कर ...
तुम्हारी यादों का अख़बार रोज़ आ जाता है ..😐

 
75
 
19 hours
 
Bavraa...

याद रखते है उसे हम आज भी पहले की तरह....🌹

कौन कहता है फासले मोहब्बत घटा देते हैं...♥

 
61
 
8 hours
 
Nishan1306
LOADING MORE...
ALL MESSAGES LOADED
BACK TO TOP