Shayari (18868)

दुःख किस _____बात का सजन,.
आप मेरे _____थे ही कब.....!

 
1
 
5 hours
 
bhardwaj

उसके सामने यूँ उदास बैठे हैं हम ।
जैसे पानी में लिए प्यास बैठे हैं हम ।।

 
31
 
12 hours
 
Parveen Unlucky

ठिठुर के कर मर ना जायें कहीं रिश्ते..





इन्हें तुम जरा *प्यार की मीठी धूप दे दो....*

 
44
 
16 hours
 
aaakash

कुछ इस तरह से अपनी बाहों में ले लूँ तुझको,
कि जनवरी के महीने को जून कर दूँ...!!

 
83
 
19 hours
 
Pankaj soni

** भूल गए है कुछ लोग हमें इस तरह से .....

यकीन मानो .......
यकीन ही नही आता ..**

*कुछ ज़्यादा भी नहीं ख़्वाहिशें मेरी..*

*बस..*

*इतवार, सुकूँ..... और तुम...!!*

 
65
 
a day
 
aaakash

🌹जिंदगी में एक प्यारी सी खता कीजिए
प्यार हो जाए जिससे उसे बता दीजिए
अगर ना कर सको इकरार तो बस इतना कीजिए
जिसे कहते हो आप उसे बस तुम कह दीजिए🌹

 
108
 
a day
 
Mits9022

*जो ये तीर फेंकते हो तुम, बेसबब जमाने पर,*

*ये भी याद रख लेना, तुम भी हो निशाने पर..।*

 
68
 
a day
 
Mits9022

*होता है होश .......तो वो नही होते* .......
*होते है वो तो ........होश नही होता* .......💞

 
116
 
a day
 
Mits9022

*"हम तो लिख देते हैं*
*जो भी दिल में आता है हमारे...,*

*...आपके दिल को छू जाए तो 'इत्तफाक' समझिये...!!!"..*❗❗❗

___💔💔💔

 
148
 
2 days
 
aaakash
LOADING MORE...
BACK TO TOP