Shayari (18552)

उन आखों की झपकियों को भी सलाम है,
जिन आँखों की पलकों के नीचे मेरी चाहत पनाह लेती है !!

 
43
 
6 hours
 
DDLJ143

कहते हैं के हो जाता है इश्क किसी के साथ रहने से..,
पर जो साथ रब कर लड़ते हैं फिर उनका क्या.?

 
18
 
11 hours
 
Jasmine

तुम्हारा धोखा देना और मेरा धोखा खा जाना

सुनो....

ये भी मोहब्बत थी मेरी..!!
💞

 
85
 
a day
 
DDLJ143

*बंद लिफाफे में रखी चिट्ठी सी है ये जिंदगी..*

*पता नहीं अगले ही पल कौन सा पैगाम ले आये !!!!!

 
180
 
a day
 
"Ipsh!t@"

दिल में तेरी याद
होठों पे सिर्फ तेरा नाम

दिलमें बसनेवाले
तुझको मेरा सलाम ❤️

 
129
 
2 days
 
"Ipsh!t@"

जीत लेते हैं हम मुहब्बत से गैरों का भी दिल !
पर ये हुनर जानें क्यों अपनों पर चलता नहीं!!✍🏻

 
192
 
2 days
 
"Ipsh!t@"

जागती आँख से सपना देखा,
कल तुझे ख़्वाब में अपना देखा ❤️

 
147
 
3 days
 
"Ipsh!t@"

जरुरत, शोहरत, विश्वास और रिश्तें,

सभी एक कागज़ के गुलाम है जिसे हम पैसा कहते है !!

 
191
 
3 days
 
aaakash

*दिन मे एक बार तो, अपने दिल की अदालत में ज़रूर जाया करें....*

*सुना है, वहाँ कभी गलत फैसले नहीं हुआ करते।*

 
206
 
3 days
 
aaakash

अज़ीब सी बैचेनी, और जाने कैसा डर है,
मैं दीवारों की कैद में हूँ, यहाँ कहाँ घर है ...
सवाल पूछती खिड़कियाँ और मौन हैं ताले
दरवाजे की कुण्डियाँ जंग से तरबतर हैं ...

लड़ाई की कर्कश आवाजें और टीवी का शोर,
बेमतलब आवाजें हैं, ना कि पायल का स्वर है ...
दिल के *दीपक* बुझ गए हैं और स्याह अँधेरा है,
अमावस हो या पूनम, मेरे घर एक जैसा मंजर है ...

इसे बेवकूफी नहीं तो और क्या कहे कोई,
अँधेरे में परछाई ढूंढती खोई-खोई हर नज़र है॥

 
58
 
3 days
 
Heart catcher
LOADING MORE...
BACK TO TOP