Shayari (19102)

वो जो बैठ जाते हैं घड़ी दो घड़ी पास मेरे...

सारा आलम हसीन सा लगने लगता है ....

 
24
 
4 hours
 
Parveen Unlucky

जब साँस आख़री आए, और दो लफ़्ज़ कहने की बस मोहलत हो,
एक नाम तुम्हारा लूँ, दूजा नाम मुहब्बत हो...

 
20
 
5 hours
 
Parveen Unlucky

तुम समझ ना पाओगे कभी मेरी मोहब्बत को शायद ......।।
के मुझे अपनी हसरत कहने की आदत जो नहीं है .....।।

 
47
 
16 hours
 
Abhilekh.......

मुझे जलाने को गैरों के ... नज़दीक जाना उसका
गवाही दे गया .... उसे इश्क़ है मुझसे

 
58
 
a day
 
Parveen Unlucky

💁‍♂️ मैं अन्धेरा हूं तो अफसोस क्यूं करूं..!
मुझे गुरूर है..रोशनी का वजूद मुझसे है..

 
67
 
a day
 
Parveen Unlucky

जाने किस गम को छुपाने की, तमन्ना है उसे,
आज उसे हर बात पर,हँसते हुए देखा है मैने..!!

 
87
 
2 days
 
Parveen Unlucky

इतनी छोटी सी जिन्दगी में हम किसी को समझना- समझाना नहीं चाहते,

बस...
तुम👧 मेरे हो जाओ तो ये जिन्दगी मुकम्मल हो जाए...!!

 
101
 
3 days
 
Parveen Unlucky

Chandni Raat, Tum Hoti Meri Baahon Mein..

Dhadakta Zor Se Dil, Jab Dekhta Tumhari Nigahon Mein..

 
52
 
5 days
 
RVivek

#मन को #बाँध लिया #है यूँ #तुमने,

जैसे #साँसो की #डोरी तुमसे #बँधी हो

 
90
 
5 days
 
Parveen Unlucky

छोड़ गया जगह अपनी कोई शायद...

दिल मेरे में आजकल ख़ामोशी बहुत है

 
113
 
5 days
 
Anonymous
LOADING MORE...
BACK TO TOP