Shayari (19670)

रख देता हूँ हाथ अब , खुदके ही हाथ में मैं🙌🏻🤝🏻 ,
खुदको अकेला कहना अब , खुदको बुरा लगता है ||■★■
✍🏻❣️🤗❣️✍🏻( ・ั﹏・ั)

मरने की दुआएँ क्यूँ माँगूँ
जीने की तमन्ना कौन करे..

ये दुनिया हो या वो दुनिया अब
ख़्वाहिश-ए-दुनिया कौन करे..!!

 
4
 
11 hours
 
Dost!

हमने प्यार किया उनसे उनकी कमिया छुपाकर
मुँह फेर लिया उन्होंने हमसे हमारी कमिया बताकर !!✍️

 
9
 
19 hours
 
kayasthabhay

मुझे बताओ तुम झूठ को सच दिखाकर 💔
सच छुपा कैसे लेती हो ???

REASON
👇🏼👇🏼👇🏼
झूठ बोल रही हो तुम , मुझे पता चलने पर ,
मेरे प्यार को अपने झूठ के सामने झुका देती हो...||
😣🥃😣✍🏻
#MYFAULT

 
4
 
23 hours
 
@$HU

शुक्रिया-अदा क्यों करते हैं वो हमारा ???
अदा करे तो थोड़ा हम पर रहम-अदा करे,
जुल्म करे हम पर और रहम भी करे,
जुल्म करे के हमें कभी रिहा ना करें,
रहम करे के खुदसे कभी जुदा ना करें |||

साथ रहने वालों आपसे एक बात कहनी थी,

#साथ_रहना_सांस_रहने_तक
💔✍🏻💔

न था कोई हमारा न हम किसी के हैं,

बस एक खुदा है और हम उसी के हैं।

😊😊

 
24
 
9 days
 
Dost!

याद आती है मेरी
मैं जब पूछता हूँ उस से,
कुछ कहती नही,
बस #रो_देती_है...
😮😶😮

 
11
 
10 days
 
@$HU

एक धोखा खाकर
रुक गये
बन्द कर दिये सारे रास्ते
हो सकता है
बना हो कोई और
तेरे वास्ते
हरकोई एक जैसा थोड़े न होता
तू देख तो सही
बदलकर पुराने रास्ते.......💕

 
17
 
10 days
 
Aksnice1

जिसकी मोहब्बत पूरी हुई है, मुझे उसकी हथेली देखनी है,

कैसी होती है वह लकीर,
जो मेरे हाथों में नहीं है।

 
34
 
11 days
 
Vasant Bhagat
LOADING MORE...
BACK TO TOP