Politics (2303)

कल मैंने एक बच्चे को गलती से फेकु बोल दिया, उसकी माँ चिल्लाई- इतना भी निकम्मा नहीं है, मेरा बेटा..! उससे तो लाख गुना अच्छा हैं...😂😂😂😂😂

*मोदी जी से लाख असहमति हो मगर इस तथ्य को आप झुठला नही सकते कि.....*

*4 साल पहले जो हिन्दू को आतंकी साबित करने में लगे हुए थे आज वो खुद को हिन्दू साबित करने में लग गए हैं.....!!*
झूठ हो तो बताइये ....!!😆

2014 में BJP को 31% वोट मिले और इसका मतलब 69%लोग मोदी को पीएम नहीं देखना चाहते थे वाला आंकलन करनेवाले JNU के महानुभाव लोग बता सकते हैं क्या कि JNU छात्रसंघ चुनाव में अध्यक्ष चुने गए लेफ्ट 'गठबंधन' के उम्मीदवार को 41% वोट मिलने का मतलब ये हुआ कि नहीं कि 59%JNU उनके पक्ष में नहीं?

 
14
 
22 hours
 
akshay parekh

*अब वो दिन दूर नही जब कांग्रेसी घर घर जाके ताली बजाकर बोलेंगे*

*"ऐ चिकने, वोट देगा या घाघरा उठाऊँ"....🙄🤑😂😂*

राहुल बाबा से किसी ने एक बार पूछा ये आपके तलवे इतने साफ कैसे रहते हैं,
पेडीक्योर करवाते हो...???

राहुल बाबा का कहना था बचपन से ही घर पर पार्टी का कोई भी कांकार्यकर्ता आता था तो तलुवे ही चाटता था....
अब साफ तो रहेंगे ही...😄😂😂😄

अगर 2019 में बीजेपी फिर से जीतती है तो मुकेश अम्बानी के लिए ये एक अतिरिक्त बोनस होगा!
😀😀😀

 
11
 
a day
 
Sudesh K Jain

तुम राष्ट्र ऋषि.. तुम राष्ट्र गुरु.. तुम महामंत्र.. तुम अद्भुत नायक.....

#Happy Bday PM Modiji

 
13
 
a day
 
akshay parekh

*जिस ने कांग्रेस की कब्र खोद डाली अइसे महान पुरुष नरेंद्र मोदी जी को जन्म दिन की ढेरो शुभकामनाये*

*💀🚩हर हर महादेव🚩💀*

कांग्रेस के जिन परम-समर्थकों को
सच में राहुल बाबा
एक महा ज्ञानी , बुद्धिमान,
बुद्धिजीवी, और परिपक्व राजनेता
समझते हैं और उन्हें भविष्व के प्रधानमंत्री
के रूप में देखते हैं...वे कृपया इस पर ज़रूर मंथन करें कि..

यदि सच में वो इतने विलक्षण प्रतिभा के धनी होते
तो क्या वो RSS के निमंत्रण को स्वीकार कर उसे एक सुनहरे मौके कि तरह इस्तेमाल नहीं करते ????

अपनी छवि को चमकाने का इस से बेहतर मौका और कहाँ मिलेगा ????

उन्हें अगर इस बात का डर था कि...किसी के कार्यक्रम में जाकर उनके ही विरूद्ध कैसे बोल सकता है कोई ??

लेकिन अगर वो सच में बुद्धिमान और अच्छे राजनेता होते तो वो मंच से उनकी हलकी तारीफ़ करने के बाद भी उनके जिन मुद्दों पर मतभेद है...या उनके जो नकारात्मक पहलु हैं उस से पूरे देश को क्या नुक्सान है उस पर नम्रतापूर्वक चर्चा करते...इसमें क्या दिक्कत थी ????

सारे देश के सामने खुद कि, अपने पार्टी कि छवि चमकाने और RSS को आइना दिखाने ...उनका पर्दाफाश करने का ...
इस से बेहतर मौका और क्या हो सकता था ?

 
17
 
2 days
 
funboss18

*_सोनिया गांधी की सरकार ने 10 साल तक तेल उधारी में खरीदा,और तब भी दाम 82₹ वसूले,मोदी ने उधार चुका कर भी 82₹ दाम रखा,अंतर समझ न आया जाके अपनी भैंस चराये_*

LOADING MORE...
BACK TO TOP