No Fit (117 | sorted randomly)

"बनते सारे काम आपके चरणो में... हे साईं नाथ प्रणाम आपके चरणो में"... प्रेम से बोलो... दिल से बोलो... भक्ति भाव से बोलो... "ओम साईं राम".

"अपना इरादा नेक है... सबका मालिक एक है".साई आपके सभी सपनो को पूरा करें... ॐ साई राम ...

 
18
 
261 days
 
Sunil

Double nine one double seven penta nine ! 👌👌👍
Baby tum Na kriyo mine !
M simple saying !!!!😊
It's a good tym ! 😍😍
you are my lifeline

 
190
 
827 days
 
Niksss

जब वह मेन्यू कार्ड से कोई डिश पसंद कर रही हो तो उसे पसंद करने दें।घर में हर रोज, हर बार का भोजन बनाने के लिये वह अपना काफी समय सिर्फ इसलिये देती है कि क्या बनाना है, कितना बनाना है और किसके लिये बनाना है।

जब वह बाहर जाने के समय तैयार होने के लिये समय ले रही हो तो लेने दें। उसने अपना समय आपके प्रेस किये कपडो़ं को जगह पर संभाल कर रखने में, आपके बेतरतीब रखे मोजों व रुमालों को सहजने में, दिया है। वह अपने बच्चे को संवारने के लिये भी बहुत मेहनत करती है ताकि वह अडो़स पडो़स के सब बच्चों से अच्छा दिख सके।

🌹🌹🌹🌺🌺🌺👏👏जब वह अपना मनपसंद और हमारी नजर में बेसिरपैर का टीवी सीरियल देखती है तो देखने दें। उसका उस सीरियल में तो ध्यान आधा ही रहता है, बाकी का ध्यान तो दिमाग में चल रही घडी़ पर रहता है, जो उसे भोजन का समय आते ही उसका प्रिय सीरियल अधूरा छोड़ कर रसोईघर की तरफ भेज देती है।

जब वह सुबह का नाश्ता बनाने में समय लगा रही हो तो उसे लगाने दें। क्योंकि वह सबसे बढि़या और कुरकुरे सिंके टोस्ट सबको दे रही है और ज्यादा सिंके व जले टोस्ट खुद के लिये अलग कर रख रही है।

जब वह चाय का कप हाथ में ले कर खिड़की के बाहर शून्य में निहार रही हो तो उसे निहारने दें। ये उसका जीवन है, उसने अपने जीवन के अनमोल व अनगिनत घंटे आपको दिये हैं। अब यदि वह अपने जीवन के कुछ पल स्वयं के लिये लेना चाहती है तो लेने दें।

उसका जीवन दूसरों के लिये भागादौडी़ में ही बीत रहा है। कृपया उसे और ज्यादा तेज भागने के लिये मजबूर न करें।
नारी शक्ति को नमन*🌺🌹🌺🌹🙏🙏

 
125
 
449 days
 
Jasmine

बात का अर्थ समझिये-

कुछ नादान बच्चे सब्जी बेच रहे थे !
मैने पूछा "पालक" है क्या ?
बच्चो का जवाब सुनकर मन भर आया
बोले
" *पालक* होते तो
सब्जी क्यों बेचते......." 😞

 
1094
 
861 days
 
LKB

जब जीवन के तमाम बाकी रास्ते
बंद हो जाये तो गाड़ी बड़े मंदिर वाली
सड़क पर डाल देना देखना सब रास्ते
खुद ब खुद खुल जायेंगे!
🙏🕉 जय गुरूजी 🕉🙏

 
34
 
304 days
 
Sunil

वो माचिस की सीली डब्बी,
वो साँसों में आग..
बरसात में सिगरेट सुलगाये *बड़े दिन हो गए*...।

एक्शन का जूता
और ऊपर फॉर्मल सूट...
बेगानी शादी में दावत उड़ाए *बड़े दिन हो गए*...।

ये बारिशें आजकल
रेनकोट में सूख जाती हैं...
सड़कों पर छपाके उड़ाए *बड़े दिन हो गए*.... ।

अब सारे काम सोच समझ कर करता हूँ ज़िन्दगी में....
वो पहली गेंद पर बढ़कर छक्का लगाये *बड़े दिन हो गए*...।

वो ढ़ाई नंबर का क्वेश्चन पुतलियों में समझाना...
किसी हसीन चेहरे को नक़ल कराये *बड़े दिन हो गए*.... ।

जो कहना है
फेसबुक पर डाल देता हूँ....
*किसी को* चुपके से चिट्ठी पकड़ाए *बड़े दिन हो गए*.... ।

बड़ा होने का शौक भी
बड़ा था बचपन में....
काला चूरन मुंह में तम्बाकू सा दबाये *बड़े दिन हो गए*.... ।

आजकल खाने में मुझे
कुछ भी नापसंद नहीं....
वो मम्मी वाला अचार खाए
*बड़े दिन हो गए*.... ।

सुबह के सारे काम
अब रात में ही कर लेता हूँ....
सफ़ेद जूतों पर चाक लगाए *बड़े दिन हो गए*..... ।

लोग कहते हैं
अगला बड़ा सलीकेदार है....
दोस्त के झगड़े को अपनी लड़ाई बनाये
*बड़े दिन हो गए*..... ।

वो साइकल की सवारी
और ऑडी सा टशन...
डंडा पकड़ कर कैंची चलाये
*बड़े दिन हो गए*.... ।

किसी इतवार खाली हो तो
आ जाना पुराने अड्डे पर...
दोस्तों को दिल के शिकवे सुनाये
*बड़े दिन हो गए*...........

 
134
 
206 days
 
V!shu

ईश्वर से सवाल :

1. क्या तुम कायर हो जो हमेशा छिपे रहते हो, कभी किसी के सामने नहीं आते?

2. क्या तुम खुशामद परस्त हो जो लोगों से दिन रात पूजा, अर्चना करवाते हो?

3. क्या तुम हमेशा भूखे रहते हो जो लोगों से मिठाई, दूध, घी आदि लेते रहते हो?

4. क्या तुम मांसाहारी हो जो लोगों से निर्बल पशुओं की बलि मांगते हो?

5. क्या तुम सोने के व्यापारी हो जो मंदिरों में लाखों टन सोना दबाये बैठे हो?

6. क्या तुम व्यभिचारी हो जो मंदिरों में देवदासियां रखते हो ?

7. क्या तुम कमजोर हो जो हर रोज होने वाले बलात्कारों को नही रोक पाते?

8. क्या तुम मूर्ख हो जो विश्व के देशों में गरीबी-भुखमरी होते हुए भी अरबों रुपयों का अन्न, दूध, घी, तेल बिना खाए ही नदी नालों में बहा देते हो?

9. क्या तुम बहरे हो जो बेवजह मरते हुए आदमी, बलात्कार होती हुयी मासूमों की आवाज नहीं सुन पाते?

10. क्या तुम अंधे हो जो रोज अपराध होते हुए नहीं देख पाते?

11. क्या तुम आतंकवादियों से मिले हुए हो जो रोज धर्म के नाम पर लाखों लोगों को मरवाते रहते हो?

12. क्या तुम आतंकवादी हो जो ये चाहते हो कि लोग तुमसे डरकर रहें?

13. क्या तुम गूंगे हो जो एक शब्द नहीं बोल पाते लेकिन करोड़ों लोग तुमसे लाखों सवाल पूछते हैं?

14. क्या तुम भ्रष्टाचारी हो जो गरीबों को कभी कुछ नहीं देते जबकि गरीब पशुवत काम करके कमाये गये पैसे का कतरा-कतरा तुम्हारे ऊपर न्यौछावर कर देते हैं?

15. क्या तुम मुर्ख हो कि हम जैसे नास्तिकों को पैदा किया जो तुम्हे खरी खोटी सुनाते रहते हैं और तुम्हारे अस्तित्व को ही नकारते हैं ?

 
211
 
673 days
 
User69

#हमारे बचपन के वो दिन#
#मैं बहुत याद करता हो उन्हे,#
#बचपन बहुत जल्दी बीट जाता है,#
#जब तक हम एहसास होता है वो
अतीत बन जाता है,#
#यह दिन कभी ना भूलना,और अपनी
पूरी ज़िंदगी 1 बच्चे की तरह बीतना..#
HAPPY CHILDRENS DAY👏😀

 
157
 
798 days
 
anil Manawat

🌹दिया जल सूरज को जब🌺।
🙏साईं तेरा दर्शन पाया तब💐।
🍂है साईं तेरे रूप अनेक☝।
🌸तू ही ब्रह्मा विष्णु महेश🥀।..🌹🌹🙏🏻

 
23
 
359 days
 
Sunil

*🌱 मैं बनाऊँ चित्र तुम्हारा*
*तुम चरित्र मेरा बनादो श्याम*

*🌱 मै रोज तुम्हे सजाऊँ*
*तुम जीवन मेरा सजादो साँवरे श्याम*


*🌹जय श्री कृष्णा 🌹*

 
439
 
787 days
 
ASHUPUMI
LOADING MORE...
BACK TO TOP