No Fit (113)

*घर परिवार के लिए जो जिंदगी गुजार देते हैं फिक्र में..,*

*मंजिल मिलने के बाद उनका नाम भी नही आता ज़िक्र में ..!!!*🙏

 
18
 
2 days
 
Sunil

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

कल गणेश जी आरती के बाद, एक छोटी सी बच्ची ने मुझसे पूछा ..
बांझन को पुत्र दे .. पुत्री क्यू नही?

और मेरे पास इसका जवाब नहीं था
शायद अभी भी कुछ चीजें बाकी हैं जिन्हें बदल ने की जरुरत है !

☘☘☘☘☘☘☘☘☘☘☘

 
30
 
49 days
 
Sunil

🙏🙏खड़ा रहता है जहाँ कान्हा, हाथ जोड़ कर श्री राधा जू के दरबार मे
🙏🙏मैंने भी हँस कर, ज्यू ही कह दिया, कि मेरी भी चलती है किशोरी जू के दरबार मे
🙏🙏यकीन मानो राधा रानी ने मेरी लाज रख ली
🙏🙏कान्हा की मिलने की अर्जी , राधा जी ने अपने पास रखली
🙏🙏जय जय श्री राधे🙏🙏
🙏🙏जय जय श्री राधे🙏🙏

 
8
 
49 days
 
Sunil

कल एक दिलचस्प घटना हुई।एक होटल में एक आदमी दाल रोटी खा रहा था।अच्छे परिवार का बुजुर्ग था । खाने के बाद जब बिल देने की बारी आई तो वो बोला कि उसका पर्स घर में रह गया है और थोड़ी देर में आकर बिल चुका जाएगा।
काऊंटर पर बैठे सरदार जी ने कहा," कोई बात नहीं, जब पैसे आ जाएं तब दे जाना" और वो वहां से चला गया।
वेटर ने जब ये देखा तो उसने कांउटर पर बैठे सरदार जी को बताया कि ये आदमी पहले भी दो तीन होटलों में ऐसा कर चुका है और ये पैसे कभी भी नहीं आते ।
इस पर उन सरदार जी ने कहा," वो सिर्फ दाल रोटी खा कर गया है, कोई कोफ्ते,पनीर शनीर खा कर नहीं गया। उसने ऐयाशी करने के लिए नहीं खाया सिर्फ अपनी भूख मिटाने के लिए खाना खाया । वो इसे होटल समझा कर नहीं आया था, गुरूद्वारा समझ कर आया था, और हम पंजाबी लोग लंगर के पैसे नहीं लेते।

... धन्य हो ऐसी विचारधारा...

 
56
 
52 days
 
V!shu

*💫खुशी के फूल उन्हीं के*
*दिलों में खिलते हैं,❣*

*🕯जो इंसान की तरह*
*इंसानों से मिलते हैं,🤝*



🌹😊😊🌹

 
48
 
62 days
 
Sunil

जीभ का टेस्ट, पेट मे डाले वेस्ट.
रोग बने गेस्ट, डॉ. करते रहे टेस्ट.
पैसा हो वेस्ट. इसलिये घर की
दाल रोटी है
सबसे बेस्ट!👌

 
56
 
73 days
 
Sunil

🙏🏻💐🌹 🙏🏻🌷.
✍🕉👇🏻

*चिंता से चतुराई घटे,*
*घटे रूप और ज्ञान।*
*चिंता बड़ी अभागिनी,*
*चिंता चित्ता सामान।*
*तुलसी भरोसे राम के,*
*निर्भय हो के सोय।*
*अनहोनी होनी नहीं,*
*होनी होय सो होय।. 🙏🙏🙏🙏🙏🙏

 
54
 
76 days
 
Sunil

😊एक कप #चाय☕*
*उसके नाम...*

*जिस के #सर में मेरी*
*वजह से #दर्द रहता है....😜😉😂😂*

 
118
 
99 days
 
V!shu

🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹
जो बड़े लोग है वो बेशक बड़े रहते है...!
हम तो साँई के टुकड़ाे पर पड़े रहते है...!
ऐसा साँई से है मेरा रिश्ता जिसके...!
कदमो पर बड़े बड़े ताज पड़े रहते है!.
🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹

 
39
 
123 days
 
Sunil

*कुम्भकर्ण के बाद*
*यदि कोई ढंग से सोया है,*
*तो वह है अपना*
*🚩हिन्दू समाज🚩*


*आने वाले हर खतरे से बेखबर और अंजान*

 
68
 
134 days
 
RMY
LOADING MORE...
BACK TO TOP