Miss You (2243 | sorted randomly)

chalte waqt yaad toh Hamesha ati hai teri.. chahe road par chalu ya track par.. 😩

 
225
 
1117 days
 
RAA...

Waqf hai zehn faqt tere tasavur k liae..
Tujhe bhula hi kahan hun jo tujhe yad krun...

 
118
 
2189 days
 
*-*Diju_khan*-*

Apse milne ka MAN kar raha tha

MAN ko manaya to DIL tadap rahatha

DIL ko bataya to ANKHEIN ro padi

Unhe chup karaya to SANSE bol padi

"I MISS U "

DO U MISS ME ?

 
596
 
2439 days
 
m.A.kHaN

A nice line dedicate my all FRNZZZ... EK DIN HAM SAB EK DUSRE KO SIRF YE SOACHKER KHO DENGE K JAB WO HAME MISS NHI KARTE TO HUM Q KARE

 
300
 
2244 days
 
F1

hum kitne pareshan hai tum kya jano, Jalte hue shamsan hai tum kya jano, Tumhe ghumne se jra bhi fursat nahi hai, Hum to kuch pal ke mehman hai tum kya jano.

 
335
 
2175 days
 
F1

Miss Meeeena!
Miss Meeeena!!
Miss Meeena? :@:@:@
Miss Meeena!
Uff!!
now u r thinking who is Miss Meeena? I m jst asking u that U Miss Me Na?

 
448
 
2271 days
 
pareshkumar

*मायका Vs ससुराल*
ससुराल में वो पहली सुबह आज भी याद है। कितना हड़बड़ा के उठी थी, ये सोचते हुए कि देर हो गयी है और सब ना जाने क्या सोचेंगे ?
एक रात ही तो नए घर में काटी है और इतना बदलाव, जैसे आकाश में उड़ती चिड़िया को, किसी ने सोने के मोतियों का लालच देकर, पिंजरे में बंद कर दिया हो।
शुरू के कुछ दिन तो यूँ ही गुजर गए। हम घूमने बाहर चले गए। जब वापस आए, तो सासू माँ की आंखों में खुशी तो थी, लेकिन बस अपने बेटे के लिए ही दिखी मुझे।
सोचा, शायद नया नया रिश्ता है, एक दूसरे को समझते देर लगेगी। लेकिन समय ने जल्दी ही एहसास करा दिया कि मैं यहाँ बहु हूँ। जैसे चाहूं वैसे नही रह सकती। *कुछ कायदा, मर्यादा हैं, जिनका पालन मुझे करना होगा। धीरे धीरे बात करना, धीरे से हँसना, सबके खाने के बाद खाना, ये सब आदतें, जैसे अपने आप ही आ गयीं*।
घर में माँ से भी कभी कभी ही बात होती थी। धीरे धीरे पीहर की याद सताने लगी। ससुराल में पूछा, तो कहा गया -- *अभी नही, कुछ दिन बाद*।
जिस पति ने कुछ दिन पहले ही मेरे माता पिता से, ये कहा था कि *पास ही तो है, कभी भी आ जायेगी, उनके भी सुर बदले हुए थे*।
अब धीरे धीरे समझ आ रहा था, कि शादी कोई खेल नही। इसमें सिर्फ़ घर नही बदलता, बल्कि आपका पूरा जीवन ही बदल जाता है।
आप कभी भी उठके, अपने पीहर नही जा सकते। यहाँ तक कि कभी याद आए, तो आपके पीहर वाले भी, बिन पूछे नही आ सकते।
पीहर का वो अल्हड़पन, वो बेबाक हँसना, वो जूठे मुँह रसोई में कुछ भी छू लेना, जब मन चाहे तब उठना, सोना, नहाना, सब बस अब यादें ही रह जाती हैं।
अब मुझे समझ आने लगा था, कि क्यों विदाई के समय, सब मुझे गले लगा कर रो रहे थे ? असल में मुझसे दूर होने का एहसास तो उन्हें हो ही रहा था, लेकिन एक और बात थी, जो उन्हें अन्दर ही अन्दर परेशान कर रही थी, *कि जिस सच से उन्होंने मुझे इतने साल दूर रखा, अब वो मेरे सामने आ ही जाएगा*।
पापा का ये झूठ कि में उनकी बेटी नही बेटा हूँ, अब और दिन नही छुप पायेगा। उनकी सबसे बड़ी चिंता ये थी, *अब उनका ये बेटा, जिसे कभी बेटी होने का एहसास ही नही कराया था, जीवन के इतने बड़े सच को कैसे स्वीकार करेगा* ?
माँ को चिंता थी कि *उनकी बेटी ने कभी एक ग्लास पानी का नही उठाया, तो इतने बड़े परिवार की जिम्मेदारी कैसे उठाएगी* ?
सब इस विदाई और मेरे पराये होने का मर्म जानते थे, सिवाये मेरे। इसलिए सब ऐसे रो रहे थे, जैसे मैं डोली में नहीं, अर्थी में जा रही हूँ।
आज मुझे समझ आया, कि उनका रोना ग़लत नही था। *हमारे समाज का नियम ही ये है, एक बार बेटी डोली में विदा हुयी, तो फिर वो बस मेहमान ही होती है, घर की। फिर कोई चाहे कितना ही क्यों ना कह ले, कि ये घर आज भी उसका है ? सच तो ये है, कि अब वो कभी भी, यूँ ही अपने उस घर, जिसे मायका कहते हैं, नही आ सकती...!!*
🙏🙏

 
538
 
574 days
 
25th NOVEMBER

If missing someone was physically visible like a swollen wound,you wouldn't look at me twice.

 
86
 
2260 days
 
F1

Sabhi naghme saaz mein gaye nahi jaate,
Sabhi log mehfil mein bulaaye nahi jaate,
Kuchh paas reh kar bhi yaad nahi aate,
Kuchh door reh kar bhi bhulaye nahi jaate.....😔😔😔

 
403
 
875 days
 
Emmi...

I need the person who once made me smile to come back and do it again.
I miss you so much. 💏

 
644
 
2013 days
 
Alcoholics
LOADING MORE...
BACK TO TOP