Hurt/Sad (10874)

फिर__ सुकुन माँगा मैने ___

फिर __एक सिगरेट दे दी उसने___√√

 
40
 
23 hours
 
Taraa

#काश ;, उनको कभी #फुर्सत में ये #ख्याल आए...
कि कोई याद करता है...उन्हें #जिन्दगी #समझ कर..........!!

 
135
 
a day
 
"Am@rdeep"#

कोई सज़ा सुनानी हो, तो सुना सकते हो,
गुस्ताख़ आँखों ने आज फिर तेरे ख़्वाब देखे.!

 
166
 
3 days
 
Jasmine

सिर्फ भरोसा ही तो था तुम पर,
°
💘
°
इसीलिए तेरे लफ़्ज़ों को जिंदगी बना बैठे...😢

 
248
 
5 days
 
"Am@rdeep"#

खामोशी से लम्बा तो उसका इज़हार निकला,
मुझे अभी तक नही मालूम, उसे इश्क़ है भी या नही..😞

 
224
 
7 days
 
"Am@rdeep"#

Love is feeling if one try to hide it and sometimes it remain untold then it hurts to that person.

 
105
 
10 days
 
keval_suchak

कुछ लोग धुंआ हो जाते हैं

जो साथ हमेशा रहते थे
किसी मोड़ जुदा हो जाते हैं।
जीवन की इस राह में
कभी वक्त ऐसा आता हैं
पतझड़ की एक दोपहर को
एक पत्ता सा गिर जाता हैं।
कहते हैं लोग की शायद
सावन खुशियां लाता हैं
पर बादल के आँचल से
एक बूंद जुदा हो जाती है
प्यास बुझाकर इस धरा की
मर जाती हैं मिट जाती हैं।
जाड़े की शाम अब शायद
ज्यादा सुनी लगती हैं
नहीं पता हैं पर कही
कुछ कमी तो खलती हैं।
आबाद सी रहती थी जो गलियां
शायद अब सुनी रहती होंगी।
राजा रानी भी वो गुम गए होंगे
जो मिले थे किसी कहानी में
परियाँ भी ना आती होंगी अब
उन हरे भरे मैदानों में।
बढ़ते बढ़ते हम इतना बढ़ जाते हैं
कुछ राहे छूट जाती हैं
जल जाती हैं कुछ यादें
कुछ लोग धुंआ हो जाते हैं।

 
131
 
12 days
 
User28397

मौत भी काँप गयी दोस्तो,जब मैंने उसे ज़िन्दगी के किस्से सुनाए

 
176
 
13 days
 
User28397

उसे छत पर टंगे आलिशान झूमर पसंद थे____

और मेरा दिल किसी आँगन में जलते दीप का दीवाना था___√√

 
145
 
13 days
 
Taraa

अपनी ख्वाइशों को पूरा करने की ज़िद्द थी उसे___

और मैं घर की जरूरतों को भी मुकम्मल न कर पाता था___√√

 
131
 
13 days
 
Taraa
LOADING MORE...
BACK TO TOP