Hurt/Sad (2 in 1 week | sorting by most liked)

जब ऐतबार 😔 ही किसी 🌎 से उठ जाए तो फिर कोई क़सम 🙅 खाए या 🏺 ज़हर,
कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता..

 
38
 
2 days
 
J_sT@R.

अक्सर मोहब्बत ❤️️ उस मकाम पर लेजाकर करती है 💔 बेवफाई,
जहां खोने को कुछ नहीं ❌ बचता, कुछ इस कदर हुई होती है तबाही.

 
7
 
9 hours
 
J_sT@R.
LOADING MORE...
ALL MESSAGES LOADED
BACK TO TOP