Encourage (54 in 1 year | sorting by most liked)

✍🏻✍🏻
*कदर करना सिख लो..*
*ना जिंदगी वापस आती है...*
*ना जिंदगी में आये हुये लोग....*

*कई बार तबियत दवा लेने से नहीं*,
*हाल पूछने से भी ठीक हो जाती है*

*कैसे हो आप*!!
‼️

 
603
 
265 days
 
Sunil

*उजालो में मिल ही जायेगा* *कोई ना कोई,*

*तलाश उसकी रखो, जो* *अंधेरों में भी साथ दे।*🌷🙏🙏

 
562
 
331 days
 
Sunil

*हालात सिखाते है,बातें सुनना और सहना !!*

*वरना हर शक्स फितरत से बादशाह ही होता है !!*

*अंधेरे मे जब हम दीया हाथ मे लेकर चलते है तो हमे यह भ्रम रहता है कि हम दीये को लेकर चल रहे है....*
*जबकि सच्चाई एकदम उल्टी है दीया हमे लेकर चल रहा होता है ।*
🌹

 
547
 
213 days
 
Sunil

*आपकी उपस्थिति से..*
*कोई व्यक्ति..*
*स्वयं के दुःख भूल जाए..*
*यही आपकी..*
*उपस्थिति की सार्थकता है* !!
*

 
449
 
183 days
 
Sunil

🍃🍂🍃🍂🍃🎭🍃🍂🍃🍂🍃
➡ *नफरत आसानी से कहाँ मिलती हैं~*

✅ *बहुत लोगो का भला करना पड़ता हैं..!!!*
🙏🌻🙏
🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃

 
425
 
252 days
 
Sunil

Work hard, until lamp light of your study table becomes spot light of stage..

 
409
 
327 days
 
Jasmine

*अपने ही अपनों से करते है अपनेपन की अभिलाषा.*

*पर अपनों ने ही बदल रखी है, अपनेपन की परिभाषा !!*

 
405
 
364 days
 
Mits9022

ख़्वाईशों के बोझ में..
तू क्या क्या कर रहा है,
इतना तो जीना भी नहीं..
जितना तू मर रहा है !!

🙏

 
369
 
149 days
 
Sunil

*रात को फूल को भी नही मालूम की*
*उसे सुबह मंदिर पर जाना है*
*या कब्र पर जाना है,*
*इसलिये जिंदगी जितनी जीओ मस्ती से जीओ।।*

 
369
 
138 days
 
Sunil

*जिम्मेदार आप स्वयं है*

*1) आपका सरदर्द, फालतू विचार का परिणाम*

*2) पेट दर्द, गलत खाने का परिणाम*

*3) आपका कर्ज, जरूरत से ज्यादा खर्चे का परिणाम*

*4) आपका दुर्बल /मोटा /बीमार शरीर, गलत जीवन शैली का परिणाम*

*5) आपके कोर्ट केस, आप के अहंकार का परिणाम*

*6) आपके फालतू विवाद, ज्यादा व् व्यर्थ बोलने का परिणाम*

*उपरोक्त कारणों के अलावा सैकड़ों कारण है और बेवजह दोषारोपण दूसरों पर करते रहते
*इसमें ईश्वर दोषी नहीं है*

*अगर हम इन कष्टों के कारणों पर बारिकी से विचार करें तो पाएंगे की कहीं न कहीं हमारी मूर्खताएं ही इनके पीछे है*

 
367
 
189 days
 
mannu22801
LOADING MORE...
BACK TO TOP