Encourage (33 in 1 year | sorting by most liked)

*हालात सिखाते है,बातें सुनना और सहना !!*

*वरना हर शक्स फितरत से बादशाह ही होता है !!*

*अंधेरे मे जब हम दीया हाथ मे लेकर चलते है तो हमे यह भ्रम रहता है कि हम दीये को लेकर चल रहे है....*
*जबकि सच्चाई एकदम उल्टी है दीया हमे लेकर चल रहा होता है ।*
🌹

 
614
 
347 days
 
Sunil

*आपकी उपस्थिति से..*
*कोई व्यक्ति..*
*स्वयं के दुःख भूल जाए..*
*यही आपकी..*
*उपस्थिति की सार्थकता है* !!
*

 
519
 
317 days
 
Sunil

*रात को फूल को भी नही मालूम की*
*उसे सुबह मंदिर पर जाना है*
*या कब्र पर जाना है,*
*इसलिये जिंदगी जितनी जीओ मस्ती से जीओ।।*

 
433
 
272 days
 
Sunil

ख़्वाईशों के बोझ में..
तू क्या क्या कर रहा है,
इतना तो जीना भी नहीं..
जितना तू मर रहा है !!

🙏

 
428
 
283 days
 
Sunil

*कद बढ़ा नहीं करते ,ऐड़ियां उठाने से,*
*उचाइयां तो मिलती हैं ,सर झुकाने से.* 💐🙏🏻 🙏🏻💐

 
422
 
256 days
 
Sunil

Do not let the things happen in a way they are happening. Make the things possible in your own ways, with your own thoughts and ideas.

 
414
 
300 days
 
#Mr_D

*जिम्मेदार आप स्वयं है*

*1) आपका सरदर्द, फालतू विचार का परिणाम*

*2) पेट दर्द, गलत खाने का परिणाम*

*3) आपका कर्ज, जरूरत से ज्यादा खर्चे का परिणाम*

*4) आपका दुर्बल /मोटा /बीमार शरीर, गलत जीवन शैली का परिणाम*

*5) आपके कोर्ट केस, आप के अहंकार का परिणाम*

*6) आपके फालतू विवाद, ज्यादा व् व्यर्थ बोलने का परिणाम*

*उपरोक्त कारणों के अलावा सैकड़ों कारण है और बेवजह दोषारोपण दूसरों पर करते रहते
*इसमें ईश्वर दोषी नहीं है*

*अगर हम इन कष्टों के कारणों पर बारिकी से विचार करें तो पाएंगे की कहीं न कहीं हमारी मूर्खताएं ही इनके पीछे है*

 
412
 
323 days
 
mannu22801

✍"रिश्ते" निभाने के लिए
"बुद्धि" नहीं
.​
"​दिल की शुद्धि"
होनी चाहिए ॥
.🙏🚩

 
373
 
222 days
 
Sunil

*चर्चा और आरोप....* *ये दो चीजें....*
*सिर्फ...सफल व्यक्ति के भाग्य में होती हैं....*

 
363
 
227 days
 
Sunil

नशे की दोस्ती .......और
दोस्ती का नशा ...........
शब्द सारे एक ही है पर अर्थों में ज़मीन आसमान जितना फ़र्क़ है .....

 
311
 
256 days
 
Abhilekh.......
LOADING MORE...
BACK TO TOP