Encourage (2058)

. इतिहास पढ़ो जब तक इतिहास बना ना दो
संविधान पढ़ो जब तक सरकार हिला ना दो
मैथ्स पढ़ो जब तक बैंक अकाउंट भर ना दो
भूगोल पढ़ो जब तक अपने नाम का स्ट्रीट बना ना लों
इकनॉमि पढ़ो जब तक गरीबी मिटा ना दो
एथिक्स पढ़ो जब तक समाज को बदल ना दो

मेहनत करो तब तक जब तक दुनिया को दिखा ना दो .........

 
14
 
5 days
 
Maunik Nashkari

*दुख:* ही इंसान का सबसे
*सच्चा मित्र है.....*

जब तक *साथ* रहता है
बहुत *सबक* सिखाता है..

और जब *छोड़कर* जाता है
तो *सुख देकर जाता है.!!*

 
66
 
17 days
 
DDLJ143

❝It is only right that a person be optimistic, feeling happy about the good he sees [in things]; and he should not look at the life lying ahead of him in this world as dark and dismal so that he becomes weary [of life] and loses hope.❞🍁

 
8
 
17 days
 
Mits9022

Where the lips are silent, the heart knows a thousand ways to speak.

Good morning 🌹

 
29
 
19 days
 
Mits9022

एक निवाला पेट तक पहुंचाने का भगवान ने क्या खूब इंतजाम किया है,
अगर गर्म है तो हाथ बता देते हैं,
सख्त है तो दांत बता देते हैं,
कड़वा या तीखा है तो जुबान बता देती है,
बासी है तो नाक बता देती है,
बस मेहनत का है या बेईमानी का,
*इसका फैसला आपको करना है 😊😊😊

 
68
 
29 days
 
Dharmesh Jain

If you follow your dreams and spend your life doing what brings you joy, you are more likely to find success.

Good morning 🌹

 
29
 
29 days
 
Mits9022

ये ज़िन्दगी है साहब....
उलझेगी नही तो सुलझेगी कैसे...??
बिखरेगी नही तो निखरेगी कैसे..??

 
79
 
39 days
 
@$HU

हमारा कर्तव्य क्या है ? धर्म को मानना तो धर्म क्या है ? जो आप सुनते हो जिसकी बात करते है जिसके बारे में बहस करते है लड़ते जगड़ते है??
या फिर जिस धर्म में आप मानते है उसमे कहीं गई बातों को अपनी ज़िंदगी में उतार कर?
अगर धर्म को मानना ही हमारा कर्तव्य है तो
हजारों साल पहले दिए कृष्णा के उपदेश जिसमें जाती के नाम पर किसी को हक से वाचित करना मना है तो क्यों नहीं रोक पा रहे है
क्यों इंसान को अपने है घर से लेके समाज में खुद की सोच तक पे आज़ादी नहीं दी जाती ? ,🤔🤔

 
5
 
42 days
 
Maunik Nashkari

Kisi Ne Sahi kaha hai ki
Agar Sab Kuchh mil Jaega Jindagi Mein To Tamanna kis chij ki Karoge Kuchh Adhuri Khwahish hi to Jeene Ka maja Deti Hai

 
64
 
69 days
 
Mohit Agarwal

The man that masters himself through self-discipline can never be mastered by others.

 
74
 
91 days
 
Mits9022
LOADING MORE...
BACK TO TOP