Current Topics (8 in 1 day | sorting by most liked)

एक आदमी काॅलोनी के गेट पर आने के बाद देखा गेट बंद है । हॉर्न बजा-बजाकर थक गया ।

आखिरकार गाड़ी से उतरकर खुद गेट खोला,

गुस्से में आकर सिक्युरिटी गार्ड पर चिल्लाया,
गेट क्यों नहीं खोला बे ???

सिक्युरिटी गार्ड बोला,

"सर,, आप भी तो चौकीदार हो ना ???"_*
facebook पर तो आपने बड़ा लम्बा चौड़ा लिखा है

🙄😳🙄😂

 
75
 
15 hours
 
MUMBHAI !!!

*संयम रखे और मज़े में व्यापार करे*

*कॉम्पटिशन में तो जेट ऐयरवेस दिवालिया हो गयी* ..
😛🙏🏻

 
61
 
15 hours
 
anil Manawat

टिकटॉक तक तो ठीक है...

सोचो अगर *ब्यूटीएप* पर बैन लगा तो ?


देश में गृहयुद्ध की नौबत आ जायेगी!
💃👹 ...🙈😂😂😂

 
56
 
15 hours
 
SPARSH

जबसे लोगों ने *वोट दिया हुआ फ़ोटो* अपलोड करना चालू किया हैं

तबसे पता चला हैं कि












लोग *उंगली के नाखून* काटते नही हैं!
😜😂😂😂

 
49
 
17 hours
 
SPARSH

मैं इंसानियत हूं।

इस्लाम ने मुझे श्रीलंका में मार दिया।
इस्लाम ने मुझे यूरोप में मार डाला।
इस्लाम मुझे मध्य पूर्व में मारता है।
इस्लाम मुझे भारत में मारता है।
इस्लाम ने मुझे अमेरिका में मार डाला।
इस्लाम मुझे अफ्रीका में मारता है।
इस्लाम मुझे चीन में मारता है।
इस्लाम ने मुझे रूस में मार डाला।
इस्लाम ने मुझे ऑस्ट्रेलिया में मार डाला।
कनाडा में इस्लाम ने की हत्या।
इस्लाम मुझे पाकिस्तान में मारता है।
इस्लाम मुझे म्यांमार में मारता है।
इस्लाम मुझे श्री लंका में मारता है।
इस्लाम ने मुझे सूडान में मार डाला।
इस्लाम ने सोमालिया में मुझे मार डाला।
इस्लाम ने मुझे यमन में मार डाला।
इजराइल में इस्लाम मुझे मारता है।
इस्लाम मुझे बंगाल में मारता है।
इस्लाम ने केन्या में मुझे मार डाला।
इस्लाम ने मुझे चार्ली-हेब्दो कार्यालय में मार डाला।
इस्लाम मुझे कश्मीर में मारता है।
इस्लाम ने मुझे फिलिस्तीन में मार डाला।
इस्लाम ने मुझे अफगानिस्तान में मार डाला।
इस्लाम ने मुझे दक्षिण-अमेरिका में मार डाला।
इस्लाम कुर्द इलाके में मुझे मारता है।
इस्लाम ने मुझे सीरिया में मार डाला।
इस्लाम मुझे इराक में मारता है।
इस्लाम मुझे दुनिया के हर कोने में मारता है।

और अभी भी आतंक का कोई धर्म नहीं है।
और अभी भी सामंती इस्लाम पर कोई खुली बात नहीं करता है।
और अभी भी इस्लाम के विश्वास पर कोई खुलेआम सवाल नहीं करता है।

क्या हम 21 वीं सदी में जी रहे हैं अथवा 6 वीं सदी में?
या हम इस्लाम के गुलाम हैं?

इस्लाम मानवता को मारता है।
इस्लाम निर्दोषों को मारता है
इस्लाम जेहाद की बात करता है।

 
42
 
22 hours
 
Mhd Therapist

*भारत से न्यूजीलैंड 11,965 किमी दूर है और श्रीलंका 1421 किमी। NZ में 49 लोग मारे गए SL में 310 लोग मारे गए फिर भी AMU में न्यूजीलैंड के लिए मोमबत्तियां जलाईं गई, लेकिन श्रीलंका के लिए कुछ नहीं इस प्रश्न का उत्तर जिस दिन भारतीय के समझ में आ जाएगा उसी दिन देश सुरक्षित हो जाएगा।*

 
35
 
11 hours
 
#TRENDED POSTS

*मोदी ने भारत में मुल्लो द्वारा अपनी इस्लामिक कला व संस्कृति दिखाने के अवसर लगभग समाप्त कर दिए हैं, इसलिए अब उन्हें श्रीलंका जाकर अपना हुनर दिखाना पड़ रहा है।*

 
31
 
12 hours
 
कांग्रेस मुक्त भारत

*Please read it..🙏🏻*

*#श्री_लंका... *
पिछले ३६ घण्टों में ५०० से ऊपर लोगों को घरों से उठाया गया है, बिना किसी अरेस्ट वारण्ट अथवा कानूनी प्रक्रिया की अनुपालना के...
उठा लिए गए सभी लोगों के नाम किसी को नहीं बताए जा रहे, किन्तु उनके मजहब को बिल्कुल छुपाया नहीं जा रहा...
आधिकारिक भाषा मे खुल कर "मुसलमान आतंकवादी हैं" कहा जा रहा है...
नाम छुपाने के पीछे उद्देश्य, कि बाकी मुसलमान लोग इनके नाम पर स्मारक न बना दें, इन्हें शहीद घोषित कर के...
ये कहना है वहां के पुलिस चीफ का...
२४ घण्टे का कर्फ्यू लगाया गया है...
किसी को भी बच कर भागने से रोकने के लिए...
देश में आपातकाल लगा कर, आतंकवादियों की सुनवाई करने के नागरिक अदालतों के अधिकार छीन लिए गए हैं...
सभी मामले मिलिट्री कोर्ट में चलेंगे...
जिनकी सजा पूर्व-निर्धारित है, फायरिंग स्क्वाड द्वारा घुटनों पर झुका के गोली से उड़ा दिया जाना...
अगर..
कोई १-२ पकड़े जाते समय ही गोली मार दिए जाने से बच कर मिलिट्री कोर्ट तक पहुंच पाए, तो...
भारत की ओर से श्री लंका को फुल सपोर्ट दिया जा रहा है, टैक्टिकल-सहयोग समेत...

इधर...
भारतीय नौसेना और कॉस्ट गार्ड को पूरी छूट दे दी गई है...
कि वो समंदर के पानी पर उभरती किसी भी मानवाकृति को, असैनिक नाव को...
बारूद से उड़ा कर जलसमाधि दे दें...
इससे पहले कि वो तमिलनाडु की तटीय धरती पर मिट्टी के एक कण को भी स्पर्श कर जाए...

और एक बात...

जानते हैं, भारत और श्री लंका की बुनियादी व्यवस्थाओं में अंतर क्या है... ?
जब कि शक्ति-संतुलन की बात की जाए, तो बेर की झाड़ी की तुलना विशालकाय बरगद के वृक्ष से करने वाली बात होगी...
वो ये कि...
इन सब कार्यवाहियों में सरकार को विपक्ष का पूरा समर्थन प्राप्त है...
किसी भी मीडिया या अखबार का कोई भी पत्रकार उन मुसलमान आतंकवादियों से सुहानुभूति नहीं दर्शा रहा...

एक भी ऐसा नेता नहीं...
जो धरती पर मौजूद गैर-मुस्लिम दुधमुंहे बालक तक से जीने का प्रकृति-प्रदत्त अधिकार उसकी गर्दन काट कर छीन लेने की पैशाचिक तमन्ना पाले बैठे उन मुसलमान मजहबवादियों की मृत्यु पर उनके किसी रिश्तेदारों के घर जा कर, या रात को अपने किसी परिजन के कमरे में जा कर घड़ियाली आँसू बहा रहा हो...

ऐसा कोई जज नहीं वहां जो आधी रात को कोर्ट के दरवाजे खोल के बैठ जाए, मुसलमान आतंकवादियों की पैरवी के लिए...

वहाँ उन मुसलमान आतंकवादियों को ढूंढे से वकील नहीं मिल रहे, जो उनका केस लड़ें...
*I wish my motherland to deal in the same way..
with all these unwanted creatures...*

 
27
 
12 hours
 
Ancient user
LOADING MORE...
ALL MESSAGES LOADED
BACK TO TOP