Current Topics (21448)

मेरे महाकाल कहते है...क़ि जो दिलो में शिकवे और जुबान पर शिकायते कम रखते है। वो लोग हर रिश्ता निभाने का दम रखते हैं।
🙏🏻जय भोलेनाथ🙏🏻
जिसे मोह नही मायाजाल का वो भक्त है महाकाल का
महाशिवरात्रि पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं। भोलेनाथ की कृपा सदैव आप पर बनी रहे। 🙏 🙏

 
18
 
a hour
 
Tera Shivam

दलित के राष्ट्रपति बनने से दलितों को उतना ही लाभ होगा... जितना मुख़्तार अब्बास नकवी को कैबिनेट मंत्री बनाने से मुसलमानों का हुआ है 😜
......
राजनीति की बिरयानी में मुसलमान और दलित उस तेजपत्ते की तरह है 🌿

जो बनाते वक्त तो डाले जाते हैं लेकिन खाते वक़्त चूस कर फेंक दिए जाते हैं ।👌🏽👌🏽👌🏽👌🏽👌🏽

 
19
 
a hour
 
PHENOMENAL

मुबारक हो टीम 🇮🇳इंडिया वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुँच गयी हैं।
अब सोच रहे होंगे कि कौन सा वर्ल्डकप
तो मैं बता देता हूँ
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
,
इंडिया की वुमन टीम वर्ल्डकप के फाइनल मैं पहुचीं हैं।
ऑस्ट्रेलिया को 35 रन से इंडिया ने हराया
Mari Choriyan chhore se k kam hai

 
70
 
3 hours
 
Neeru

ई तो चीटिंग है।
GST का असर सब्जियों पे भी पड़ेगा
सरकार ने ये बात जनता से क्यों छुपाई
टमाटर पे तो 78% gst लग राय बे।

सवाल बेतुकी सी है पर जंचेगी...
सब्ज़िया क्या फॅक्टररियों में उगा रहो हो का मोदीजी
😂😂😁😁😀
🍅🍅

 
4
 
58 seconds
 
PREM CHOPDA

*कांवड़िये झुण्ड में चल रहे हैं। साथ में ट्रक जा रहा है। कांवड़िये पैदल हैं। ट्रक पर 14 आदमकद स्पीकर लगे हैं।*
बेस इतना ज़्यादा है कि पास से गुज़रते वक़्त *पेट की अंतड़ियों में धमक सी महसूस हो रही थी।*
रात के साढ़े दस बजे किसी रिहाइशी इलाके में ऐसा करने से रोकने की बजाय पुलिस उल्टा इन बीप-जनों की सुरक्षा में लगी है।
वो सारे लोग बाल्टी में मुंह डुबो के औंधे पड़े हैं जो कहते हैं मस्जिदों में लाउडस्पीकर की ज़रूरत क्या है?

अबे नयनवंचितो, इन झंडू बामों को लाउडस्पीकर की क्या ज़रूरत है ये कब पूछोगे?

कहाँ गए तुम्हारे सवाल?

किसी तीर्थ, या दुर्गम स्थान पर बसे धार्मिक स्थलों की यात्रा का महत्व व्यवहारिक कारणों से होता था और ढलती उम्र में इन्हें देखना आवश्यक माना जाता था।

अभी भी माना जाता है लेकिन एक बेहद महत्वपूर्ण पक्ष नज़रंदाज़ कर दिया जाता है।

*तीर्थ या हज का महत्व किसलिए था?*

उम्र की आख़िरी चौथाई में पहुँचते पहुँचते इंसान के पास ढेर सारा व्यवहारिक अनुभव हो जाता था।

उस ज़माने में आज की तरह थ्योरेटिकल ज़िन्दगी नहीं थी।
*उस ढेर सारे अनुभव के साथ बहुत सारा क्षोभ, ग्लानि, अफ़सोस, गर्व, अभिमान वगैरह भी मिलता था।*
इंसान लंबे वक्त तक एक दायरे में रह कर, काम कर के संकुचित सोच वाला हो जाता है।
तीर्थ यात्रा दुर्गम होती थी। लंबे सफ़र वाली होती थी। कुछ ऐसी होती थी कि लोग ढेर सारे अजनबियों से मिलें, उनसे मदद लें, उनसे संपर्क बनाएं, मेल जोल बढ़ाएं, उन्हें समझें-जानें, और अपने संकुचित दायरे को फैलाएं।

दुनिया देखने से बहुत कुछ सीखने को तो मिलता ही है, स्थायित्व, शान्ति और सहजता भी आती है व्यव्हार में। तीर्थों का यही महत्त्व था कि इन यात्राओं के ज़रिये आप अपने भ्रम, मान्यताओं और अहम् के सच को जान सकें और अपने ईश्वर के सामने माफ़ी मांग कर प्रायश्चित कर सकें।

*आज कल के तीर्थ हाई टेक हो गए हैं। लोग हज करने जहाज़ से जाते हैं। कांवड़िये बाइक से जाते हैं। केदारनाथ-बद्रीनाथ हेलीकाप्टर से जाते हैं। शिरडी लग्ज़री बस से जाते हैं। जा के माथा टेकते हैं। ईश्वर को हाय बोलते हैं, बिज़नेस पार्टनर की तरह हाथ मिलाते है और चले आते हैं पांच सौ इक्यावन का चढ़ावा चढ़ा कर। बीच का सफ़र नदारद है। लोगों से मिलना, मदद लेना ग़ायब है, कठिनाइयां लुप्त हो चली हैं। श्रद्धा खो गयी है, आस्था कट्टर हो गयी है।* धार्मिकता के नाम पर बहुसंख्या अराजकता फैला रही है।

आपने कभी ये सब ग़ौर किया है? कभी बुरा लगा है ये बदलाव महसूस कर के?

 
20
 
3 hours
 
$h@iL_143

न सारे मुसलमान अच्छे न सारे हिन्दू अच्छे
इन दोनों से तो चरिंदे-परिंदे ही है अच्छे...!!

 
5
 
a hour
 
Ms khan

*जिन्हे भी मेरे मेसेज पसंद नहीं आते हैं..*


*वो मुझे टमाटर 🍅🍅🍅🍅 फेंक के मार सकते हैं* 😀

 
80
 
3 hours
 
_N@jmi_

मीरा को हरा राम बने हिंदुस्तान के नये महामहिम...


#राष्ट्रपति चुनाव...!!!~!~ 🇮🇳👍🏻

 
41
 
13 hours
 
1RRBS

सब्जी बाजार का क्रिकेट मैच
-----------------------------------
और इसी के साथ टमाटर ने पूरा किया शानदार शतक। ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 120 पर नाबाद। दूसरे छोर पर शिमला मिर्च भी दे रही बराबर का साथ। 80 पर नाबाद।कई बार दोहरा शतक जड़ चुके धनिया से इस पारी में तिहरा शतक की उम्मीद।ओपनर आलू प्याज सस्ते में निपटे।पुछल्ले भिंडी , गिलकी से भी अच्छी पारी की उम्मीद।
विपक्षी टीम" उपभोक्ता" का मनोबल टूटा, अभूत पूर्व निराशा, मैदान छोड़कर भागने की तैयारी।---------
आगे का हाल कॉमेंट करने वाले मित्रो से---।
😜😜😜😜😜😜😜

 
133
 
14 hours
 
V!shu

आज कुछ लोग ब्रनोल लगाने के बजाय पीते नजर आएंगे!😝😝
.
कोविन्द जी का स्वागत है!!!

 
38
 
18 hours
 
RVivek
LOADING MORE...
BACK TO TOP