Amazing Info (502 | sorted randomly)

1. हाल के समय में सऊदी अरब जवान हैं यहाँ हर 4 में से 3 आदमी 35 साल से कम उम्र के हैं.

2. सेना पर खर्च करने के मामले में सऊदी दुनिया भर में चौथे स्थान पर है.

3. सऊदी अरब में काम करने वाले 80% मजदूर विदेशी हैं. ज्यादातर मजदूर तेल और गैस सेक्टर में काम करते हैं.

4. इस्लाम में दो शहरों को सबसे पवित्र माना गया है मक्का और मदीना. ये दोनो ही सऊदी अरब में स्थित है यहाँ हर साल लाखों मुसलमान हज यात्रा पर आते हैं. यहाँ गैर-मुस्लिमों को जाने की इजाजत नही हैं.

5. सऊदी अरब का कोई संविधान नही हैं. यह इस बात पर जोर देता है कि पवित्र ग्रंथ कुरान और पैगंबर मोहम्द ही उनके संविधान हैं. दरअसल यह देश शरियत कानून के मुताबिक चलता हैं.

6. सऊदी अरब़ दुनिया का आखिरी ऐसा देश हैं, जिसने महिलाओ को वोट डालने की आजादी दी.

7. सऊदी अरब़ का 95% हिस्सा रेगिस्तान है यहाँ पानी बहुत ही कीमती चीज है पूरे देश में 1 भी नदी या झील नही हैं. यह देश समुंद्र के पानी को भी पीने लायक बना लेता हैं.

8. आपको हैरानी नही होनी चाहिए अगर मैं कहूँ कि यहाँ पानी से सस्ता तेल मिलता हैं. जी हाँ, यहाँ पानी बेश्क कम है लेकिन तेल दुनिया में सबसे ज्यादा यही प्रोड्यूस होता हैं.

9. सऊदी अरब के आम लोग हर रोज लगभग 8 डाॅलर सिगरेट पर खर्च करते हैं.

10. सऊदी अरब़ का रियाद ऊंट बाजार दुनिया का सबसे बड़ा ऊंट बाजार है यहाँ हर रोज लगभग 100 ऊंट बिकते हैं.

11. सऊदी अरब़ मौत की सजा देने वाले देशों में नंबर 4 पर है यहाँ तलवार से गर्दन काटकर मौत देने की सजा सबसे आम है लेकिन हाल के समय में तलवारबाजों की कमी हो गई हैं तो देश किसी दूसरे तरीके पर विचार कर रहा हैं.

12. 2012 तक, सऊदी अरब में ऐसा था कि महिलाओं के सामान वाली दुकान पर भी पुरूष ही काम करते थे. लेकिन फिलहाल ऐसा नही हैं.

13. 2018 तक, दुनिया की सबसे ऊंची ईमारत अतुलनीय किंगडम टाॅवर सऊदी अरब में बनकर तैयार हो जाएगी. यह एक किलोमीटर से भी ऊंची (3280 मीटर) होगी. इसे बनाने में 1.23 अरब डॉलर का खर्चा आएगा.

सऊदी अरब के 14 कानून

1. सऊदी अरब में महिलाओं को हिजाब में रहना पड़ता है यहाँ तब तक रेप की सजा नही मिलेगी जब तक उसके 4 चश्मदीद गवाह ना हों.

2. सऊदी अरब में महिलाएं गैर मर्दों से नही मिल सकती और जब भी किसी पब्लिक प्लेस पर जाती है तो उसके साथ परिवार का एक पुरूष भी होना चाहिए. ये कानून सख्ती से लागू किया जाता हैं.

3. सऊदी अरब दुनिया के उन चुनिंदा देशो में से है जहाँ महिलाओ के पहनावे पर खास पाबंदी हैं यहाँ घर से बाहर निकलने पर महिलाओं के केवल हाथ और आँख दिखनी चाहिए.

4. सऊदी अरब में पार्न देखने पर सख्त पाबंदी है अगर ऐसा करते पकड़े गए तो समझ लेना आप गए.

5. सऊदी अरब़ में आप साॅस वाला सैंडविच नही खा सकते. और यहाँ सूअर के माँस पर भी बैन हैं.

6. सऊदी अरब में आप वैलेंटाइन डे नही मना सकते. इस दिन के आस-पास पूरे हफ्तें दुकानदार अपनी दुकान पर दिल के आकार की चीजें भी नही रख सकता.

7. सऊदी अरब़ में सिनेमा बैन हैं यहाँ के बहुत से लोग दूसरे देश में सिर्फ इसलिए जाते है ताकि फिल्म देख सके.

8. सऊदी अरब़ अकेला ऐसा देश है जहाँ महिलाएं ड्राइविंग के लिए तरसती हैं यहाँ की महिलाएँ जहाज तो उड़ा सकती है लेकिन गाड़ी नही चला सकती.

9. सऊदी अरब़ में समलैगिंग संबंध नही बना सकते ऐसा करने पर मौत की सजा दी जाती हैं.

10. किसी की संपति को आग लगाने पर जैसे घर जलाना आदि पर सिर्फ एक ही सजा है मौत.

11. सऊदी अरब़ में जादू और टोने पर पूरी तरह से बैन हैं. यहाँ कि एक स्पेशल पुलिस यूनिट तो केवल जादूगरों को पकड़ने का काम करती हैं. ऐसा करने पर सीधा गला काट दिया जाता हैं.

12. सऊदी अरब शायद दुनिया का वह देश है जहां पर महिलाओं को बैंक अकाउंट तक खोलने के लिए अपने पति से इजाजत लेनी पड़ती है। अगर वह अपने पति से इजाजत नहीं लेती तो फिर उन्‍हें इसकी मंजूरी ही नहीं मिलेगी.

13. सऊदी अरब़ के ऊपर से जो जहाज गुजरेगा उसमें शराबनही मिल सकती. हैरानी कि बात तो ये है कि पूरी दुनिया इस कानून को मानती हैं.

14. सऊदी अरब में गैर-मुस्लिम लोगो को नागरिकता नही मिलती. यहाँ कोई गैर-मुस्लिम अपनी पूजा पद्धति भी नही अपना सकता.

 
88
 
335 days
 
B P S R

सार्वजनिक मौकों पर कैसे रोकें अपनी पाद

सार्वजनिक मौकों पर कैसे रोकें अपनी पाद, जानिए अचूक उपाय। लोगों के बीच आप पाद देना सबसे ज्‍यादा शर्मनाक पल होता है। ऐसा हर किसी के साथ, कभी भी और कहीं भी हो सकता है। आप रोमांटिक डेट पर हो या जरूरी मीटिंग में, किसी भी जगह आपको फार्ट (पाद) आ सकता है। सभी के सामने पादना खुद को अपमानित कराना होता है, कई लोग प्रतिक्रिया स्‍वरूप गंदा मुंह बनाते है और गंदी बदबू से बैचेन होते दिखते हैं।

पादने के कई कारण होते है - जैसे आपका भोजन सही तरीके से न पचना, अस्‍वस्‍थकर खाना खाना और कुछ भी उल्‍टा - सीधा खाने की आदत। पादने की आदत गंदी होती है लेकिन ऐसा कोई भी जानबूझकर नहीं करता है। यह एक नेचुरल प्रॉसेस होता है जिसे रोकना बहुत मुश्किल होता है, लेकिन कुछ खास तरीकों से आप अपनी पादने की आदत पर कंट्रोल कर सकते हैं।

1. स्‍टार्च : कुछ खाद्य पदार्थो जैसे - आलू, अनाज आदि में स्‍टार्च की भरपूर मात्रा होती है। स्‍टार्च के सेवन से पेट में गैस बनती है जिससे पादने की समस्‍या पैदा होती है। अगर आप किसी पब्लिक मीटिंग के लिए जा रहे हैं और आपको गैस की समस्‍या से अक्‍सर जूझना पड़ता है तो स्‍टार्च युक्‍त खाद्य पदार्थ का सेवन न करें। क्‍योंकि ऐसे भोजन खाने से पाद में बदबू भी बहुत ज्‍यादा आती है और आवाज भी आती है। चावल भी गैस बहुत ज्‍यादा बनाता है, इसलिए चावल भी न खाएं।

2. कार्बोहाइड्रेट : शरीर में कार्बोहाइड्रेट, जब बैक्‍टीरिया के द्वारा पचाया जाता है तो वह कार्बन डाईऑक्‍साइड में बदल जाता है। इस तरह कार्बोहाइड्रेट के सेवन के बाद पाद से बहुत गंदी बदबू निकलती है। इसलिए अगर आप किसी भी जरूरी काम से बाहर निकलने वाले हैं तो कार्बोहाइड्रेट युक्‍त खाद्य पदार्थ न खाएं। इसके अलावा, सोड़ा सा फिल्‍ड ड्रिंक भी न पिएं ताकि आप फार्ट न करें।

3. सुगरी फ़ूड - सुगरी फूड यानि मीठे खाद्य पदार्थ के सेवन से सबसे ज्‍यादा पादने की समस्‍या पैदा होती है। सुगर को आसानी से बैक्‍टीरिया के द्वारा तोड़ा जा सकता है जिसके चलते वह पेट में गैस पैदा करते है और बदबूदार बनाते है। घर के कई खाद्य पदार्थो में सुगर पाई जाती है इसलिए आप ध्‍यान रखें और इनका सेवन कम करें ताकि आपको शर्मिंदगी न उठानी पड़े।

4. स्‍मोक / धूम्रपान : धूम्रपान करने से भी पादने की समस्‍या होती है। वैसे धूम्रपान से शरीर को अन्‍य समस्‍याएं भी होती हैं लेकिन ऐसा अध्‍ययन से पता चला है कि सिगरेट आदि पीने से पेट में गैस बनती है जो फार्ट के रूप में बॉडी से बाहर निकलती है। अगर आप पादने की समस्‍या से निजात पाना चाहते हैं और शरीर को स्‍वस्‍थ रखना चाहते हैं तो धूम्रपान करना छोड़ दें।

5. एंटी - ब्‍लोटिंग मेडीसीन : आजकल मार्केट में कई ऐसी दवाएं और सीरप आते हैं जो पेट में होने वाली गुडगुडाहट को बंद कर देते है और पेट के कब्‍ज को दूर भगाते है जिससे गैस नहीं बनती है और पादने की दिक्‍कत नहीं होती है। यह दवाईयां बहुत उपयोगी होती हैं, आप चाहें तो इनका इस्‍तेमाल आसानी से डॉक्‍टरी परामर्श से कर सकते हैं। वैसे एक्टिव कार्बन बेस्‍ड गोलियां भी बाजार में उपलब्‍ध है जो पादने की समस्‍या से निजात दिलाती हैं। आप इनमें से किसी भी प्रकार के तरीके को इस्‍तेमाल कर सकते है और अवश्‍य लाभ मिलेगा। वैसे पादने से गैस की समस्‍या में आराम मिलता है लेकिन पब्लिक प्‍लेस पर ऐसा करने से हमारा अपमान हो जाता है।

 
185
 
771 days
 
Sam's Son

अच्छी सेहत के लिए पौष्ट‍िक आहार, योग-ध्यान के साथ-साथ नियमित दिनचर्या भी जरूरी है. दिनचर्या में सही वक्त पर नींद लेना भी शामिल है. शास्त्रों में इस बारे में बताया गया है कि सोने का सही तरीका क्या होना चाहिए.

दक्षिण दिशा की ओर सिर रखने के फायदे
दक्षिण दिशा की ओर सिर करके सोना बेहतर माना गया है. ऐसी स्थ‍िति में स्वाभाविक तौर पर पैर उत्तर दिशा में रहेगा. शास्त्रों के साथ-साथ प्रचलित मान्यताओं के अनुसार, सेहत के लिहाज से इस तरह सोने का निर्देश दिया गया है. यह मान्यता भी वैज्ञानिक तथ्यों पर आधारित है.

उत्तर की ओर क्यों न रखें सिर?
दरअसल, पृथ्वी में चुम्बकीय शक्ति होती है. इसमें दक्षिण से उत्तर की ओर लगातार चुंबकीय धारा प्रवाहित होती रहती है. जब हम दक्षिण की ओर सिर करके सोते हैं, तो यह ऊर्जा हमारे सिर ओर से प्रवेश करती है और पैरों की ओर से बाहर निकल जाती है. ऐसे में सुबह जगने पर लोगों को ताजगी और स्फूर्ति महसूस होती है.

अगर इसके विपरीत करें सिर 
इसके विपरीत, दक्षिण की ओर पैर करके सोने पर चुम्बकीय धारा पैरों से प्रवेश करेगी है और सिर तक पहुंचेगी. इस चुंबकीय ऊर्जा से मानसिक तनाव बढ़ता है और सवेरे जगने पर मन भारी-भारी रहता है.

पूरब की ओर भी रख सकते हैं सिर
दूसरी स्थ‍िति यह हो सकती है कि सिर पूरब और पैर पश्चिम दिशा की ओर रखा जाए. कुछ मान्यताओं के अनुसार इस स्थि‍ति को बेहतर बताया गया है. दरअसल, सूरज पूरब की ओर से निकलता है. सनातन धर्म में सूर्य को जीवनदाता और देवता माना गया है. ऐसे में सूर्य के निकलने की दिशा में पैर करना उचित नहीं माना जा सकता. इस वजह से पूरब की ओर सिर रखा जा सकता है.

सोने से जुड़े कुछ जरूरी निर्देश...
--शास्त्रों में संध्या के वक्त, खासकर गोधूलि बेला में सोने की मनाही है. 
--सोने से करीब 2 घंटे पहले ही भोजन कर लेना चाहिए. सोने से ठीक पहले कभी भी भोजन नहीं करना चाहिए. 
--अगर बहुत जरूरी काम न हो तो रात में देर तक नहीं जागना चाहिए.
--जहां तक संभव हो, सोने से पहले चित्त शांत रखने की कोशि‍श करनी चाहिए.
--सोने से पहले प्रभु का स्मरण करना चाहिए और इस अनमोल जीवन के लिए उनके प्रति आभार जताना चाहिए. 
ललित नेगी

 
480
 
1200 days
 
Heart catcher

Olive oil for the digestive tract :

Take 1 tablespoon of olive oil on an empty stomach to stimulate digestion and relieve upset stomach, flatulence and heartburn.

 
153
 
1148 days
 
ALL IS WELL

फ्रीज़ किए गए नींबू के आश्चर्यजनक परिणाम
🍋🍋🍋🍋🍋🍋🍋🍋🍋🍋
सबसे पहले नींबू को धोकर फ्रीज़र में रखिए
८ से १० घंटे बाद वह बर्फ़ जैसा ठंडा तथा कड़ा हो जाएगा
अब उपयोग मे लाने के लिए उसे कद्दूकस कर लें
इसे आप जो भी खाएँ उस पर डाल कर इसे खा सकते हैं
इससे खाद्य पदार्थ में एक अलग ही टेस्ट आऐगा
नीबू के रस में विटामिन सी होता है। ये आप जानते हैं,आइये देखें इसके और क्या-क्या फायदे हैं

🍋नीबू के छिलके में ५ से १० गुना अधिक विटामिन सी होता है और वही हम फेंक देते हैं

🍋नींबू के छिलके में शरीर कॆ सभी विषेले द्रव्यों को बाहर निकालने की क्षमता होती है

🍋नींबू का छिलका कैंसर का नाश करता है , इसका छिलका कैमोथेरेपी से १०,००० गुना ज्यादा प्रभावी है

🍋यह बैक्टेरियल इन्फेक्शन, फंगस आदि पर भी प्रभावी है

🍋नींबू का रस विशेषत: छिलका, रक्तदाब तथा मानसिक दबाव को नियंत्रित करता है

🍋नींबू का छिलका १२ से ज्यादा प्रकार के कैंसर में पूर्ण प्रभावी है और वो भी बिना किसी साईड इफेक्ट के

🍋इसलिये आप अच्छे पके हुए तथा स्वच्छ नींबू फ्रीज़र में रखें और कद्दूकस कर प्रतिदिन अपने आहार के साथ प्रयोग करें


🍋🍋🍋🍋🍋🍋🍋

 
409
 
755 days
 
25th NOVEMBER

⛈ *"पुराना विज्ञान बारिश पता करने का"*⛈

पुराने समय में जब घर से दूर जाना होता था, तो रास्ते में बारिश होगी या नहीं, यह जानने के लिए --

पहले कुछ दाने चीनी या चावल के 'कीड़ों के घर के पास या किसी पेड़ की "जड़'' में गिराया जाते थे।

अगर कीड़े या चींटियाँ वो दाने उठा कर जमीन पर रेंगते हुए जमीन के नीचे ले जाएँ, तो समझो अभी बारिश नही आएगी, जबकि अगर कीड़े वो दाने उठा कर पेड़ के ऊपर या दीवार के ऊपर की तरफ ले जाते दिखाई दें, तो समझ लो बारिश के दिन नजदीक हैं..
क्योंकि धरती के नीचे सूखे में रहने वाले ये जन्तु बारिश आने से पहले अपना घर बदल लेते हैं, और राशन भी ऊपर की तरफ ले जाते हैं ।
और ये बात कभी गलत साबित नही होती और आज भी लागू होती है !!

 
348
 
852 days
 
dre@m_factory

कहीं आपका पार्टनर किसी और के साथ तो नहीं सो रहा

आप अगर सच्चे प्यार में भरोसा करते हैं और इश्क में आपको सब अच्छा ही अच्छा लगता है तो रुकिये आज जो हम आपको बताने जा रहे हैं वो आपके लिए बेहद ही जरुरी है। इसके लिए आपको आदर्श दुनिया का वो कांसेप्ट कुछ देर के लिए दिमाग से निकालना होगा जहां लोग अपने प्यार के लिए कुछ भी कर जाते हैं। यहां बहुत कम ऐसे प्यार करने वाले होते हैं जो हमेशा अपने प्यार के लिए प्रतिबद्ध रहते है और मरते दम तक अपने साथी के साथ लॉयल रहते हैं। असल दुनिया की सच्चाई उस आदर्श दुनिया से बहुत अलग है। असल दुनिया में लोग बहुत जल्दी रिलेशन में बोर हो जाते हैं और फिर शुरु होता है धोखे और विश्वासघात का सिलसिला। हम ये नहीं कह रहे कि आपका पार्टनर भी आपके साथ वही कर रहा है जो विश्वासघाती लोग अपने पार्टनर के साथ कर रहे हैं लेकिन अगर आप हमारे बताये इन तरीकों को अपनाकर अपने प्यारे साथी को एक बार चेक कर लें तो इसमें कुछ बुराई नहीं है।

1. बेडरुम में नये मूव्स की डिमांड करना

यह तो सबसे बड़ा साइन है, अगर आपका पार्टनर बैड पर नये-नये मूव्स की डिमांड करने लगा है तो समझ जाइये वो ये कहीं और से सीख कर आ रहा है। आपको लग रहा होगा कि वो आपको खुश करने के लिए ये नये मूव्स दिखा रहा है लेकिन वो इसकी प्रेक्टिस कहीं और ही कर रहा है। इसका पता आपको शुरुआत में नहीं चलेगा क्योंकि उस समय आपको लगेगा कि आपको वैड पर कुछ नया करना ही चाहिए। आप भी पुराने मूव्स कर के थक गये होंगे लेकिन हमेशा नए मूव्स की डिमांड करने का मतलब है कि वो आपमें कोई और ढूंढ रहा है। याद करिये आपने जब रोमांस की शुरुआत की होगी तो कुछ चीजें होंगी जो आपने अपने पार्टनर से शेयर की होंगी कि आपको क्या अच्छा लगता है और क्या नहीं। अब वो उन चीजों को भूल रहा होगा और आपकी खुशी का ध्यान रखे बिना वो आपसे कुछ ऐसा करने को कह रहा होगा जो आपको पसंद भी नहीं होगा। ऐसे में आप उससे बात करिये कि आपको ये पसंद नहीं है लेकिन फिर भी वो बार-बार आपसे बैड पर कुछ अलग करने की डिमांड करता है तो समझ जाइये कि वो ये आपको दिमाग में रखकर नहीं किसी और को दिमाग में रख कर कर रहा है।

2. सफाई पर अचानक तवज्जो देना

अगर आपका पार्टनर एकाएक सफाई पर बहुत धयान देने लगे और अगर यह उसके स्वभाव के बिलकुल विपरीत है । अगर पार्टनर खासकर अपने अंडरवियर की सफाई पर धयान देने लगे और नए अंडरवियर आपकी अनुपस्थिति में खरीदने लगे और पूछने पर कुछ ऐसे बहाने दे जो आपकी समझ के परे हो, अपने प्राइवेट पार्ट्स की सफाई नियमित रूप से करना लगे तो आप समझ पाए कि दाल काली है।

3. बेडरुम में वो पुराने वाला रोमांस नहीं होना

आप ही सोचिए जब आपका पेट एक बार भर गया होगा तो आप उसके बाद तुरंत खाना खायेंगे, जबाव आपको मिल गया होगा। यही हाल बेड पर भी होता है, जब आपका पार्टनर किसी और के साथ सो कर आ रहा होगा तो वो आपके साथ वैसे रोमांस नहीं करेगा जैसा वो पहले करता होगा। आपको लगेगा कि काम की वजह से वो दबाव में है आप तो भलाई के कारण उसे सोने दे रहे होंगे लेकिन वो आपके इस सीधेपन का फायदा उठा रहा होगा। समय के साथ बेडरुम रोमांस में थोड़ी कमी आना आम बात है लेकिन एक दम से कमी आ जाना सही नहीं है। आपको इस बारे में सोचना चाहिए कि आपका पार्टनर आपसे उस तरह से क्लोज क्यों नहीं हो रहा है जिस तरह से पहले हुआ करता था।

4. घर आते ही नहाने चला जाना

याद रखिए आपका पार्टनर अगर घर आते ही आपसे बिना ढ़ंग से मिले नहाने चला जा रहा है तो वो कुछ ऐसा धो कर आ रहा है जो उसे पकड़वा सकता है। उन सबूतों को मिटाने में वो अपनी भलाई समझता है क्योंकि वो जानता है कि आप उसे पहचान लेंगी कि वो क्या कर आ रहा है। याद रखें जब आप किसी के साथ सोते हैं तो आपको उसकी खूशबू की पहचान हो जाती है, आप उसकी उसी खुशबू के प्रति आकर्षित होते हैं। अब जब वो किसी और के साथ सोकर आ रहा है तो ये लाजमी बात है कि उसके पास से एक अलग खुशबू आयेगी जिसको आप पहचान लेंगे इसीलिए वो आपसे मिले बिना ही वॉशरुम में घुस जाता है।

5. काम के बाद घर पर हमेशा लेट आना

ऑफिस में करते करते लेट हो जाना कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन याद रखिए रोज रोज लेट होना जाना बड़ी बात है। कोई भी इंसान ऑफिस में 9 घंटे से ज्यादा नहीं गुजारना चाहता है और जो कहता है कि वो अपने काम से बहुत प्यार करता है वो छूट बोलता है। हां रास्ते में आते हुए वक्त लग सकता है लेकिन उसकी भी एक लिमिट होती है अगर आपके पार्टनर को ऑफिस से आने में रोज रोज वक्त लग रहा है तो थोड़ा ध्यान रखिए क्योंकि ये आपके लिए खतरे की घंटी हो सकती है। अगर आपके रिलेशन में ऐसा हो रहा है तो आप अपने पार्टनर को चेक करना शुरु कर दें, उसके ऑफिस से निकलने के वक्त कॉल करें कि वो निकला के नहीं। रास्ते में ज्यादा वक्त लग रहा है तो फिर से कॉल करें कि कहां तक पहुंचा इससे आपको समझ आ जायेगा कि वो आपको धोखा दे रहा है या नहीं।

6. अपने आप को सजाने में कुछ ज्यादा ही वक्त लेना

आपका पार्टनर अगर ऐसा कर रहा होगा तो आप ध्यान देना वो सजने धजने में कुछ ज्यादा ही वक्त लेने लगा होगा। घर में नये-नये कपड़ों के साथ कई तरह के और सामान आ गये होंगे जो वो कभी यूज भी नहीं करता होगा। आपको लगेगा कि वो आपके लिए ये सारी चीजें कर रहा है लेकिन सच्चाई इससे कहीं अलग होगी। असल में आपका पार्टनर किसी और के लिए इतना सज के जाता है ताकि वो उसके लिए रोज नयापन दे सके। यह उसके लिए इसलिए भी जरुरी हो जाता है क्योंकि वो उसमें आपसे ज्यादा इंट्रेस्ट ले रहा है।

7. फोन में प्राइवेसी लगाकर रखना

आपका पार्टनर अगर आपसे सच्चा प्यार करता है और किसी भी तरह से आपको धोखा देने के बारे में नहीं सोचता है तो वो आपसे किसी भी तरह की प्राइवेसी नहीं रखेगा लेकिन अगर वो आपसे अपने फोन का यूज करने से बार बार रोकता है और बहुत ज्यादा प्राइवेसी का यूज कर रहा है तो समझ जाइये कि दाल में कुछ काला है। आप उससे प्यार करते हैं आपसे प्राइवेसी का मतलब है कि वो किसी और को आपसे ज्यादा तवज्जो दे रहा है। ऐसे में वो कोशिश करेगा कि आप उसके फोन से कोसों दूर रहें और इसके लिए वो हर सम्भव प्रयास भी करेगा। आप देखिए कहीं आपके साथ तो ऐसा नहीं हो रहा है क्योंकि जब आपका पार्टनर किसी और के साथ शारीरिक सम्बंध बना रहा होगा तो उसके फोन में कुछ ऐसे मैसेज जरुर होंगे जिनको वो आपसे छिपाना चाहेगा।

8. अगर आपका पार्टनर आपके कॉल और मैसेज की रिप्लाई करने में काफी वक्त ले रहा है

यह सच्चाई है कि आज कल की बिजी लाइफ में आप हर काम समय पर नहीं कर सकते हैं लेकिन किसी काम को करने में आप थोड़ा लेट हो सकते हैं बहुत ज्यादा नहीं। आप इस बात को नोटिस करना शुरु करें कि आपका पार्टनर आपके कॉल और मैंसेज का रिप्लाई करने में कितना समय ले रहा है। इससे आप ये जान पायेंगे कि आपका पार्टनर आज भी आपसे उतना ही प्यार करता है जितना पहले करता था क्योंकि अगर वो किसी और के प्रति आकर्षित हो गया है तो वो आपको उस तरह से रिस्पांस नहीं दे रहा होगा जिस तरह पहले दिया करता होगा।

 
134
 
844 days
 
Sam's Son

ग्रीस दिवालिया क्यूँ हुआ !!??

एथेंस। ग्रीस की जनता के द्वारा कर्जदाताओं की शर्तों को खारिज करने के बाद ग्रीस के वित्त मंत्री यानिस वारफाकिफ ने इस्तीफा दे दिया है। यूरपिय देशों के साथ समझौते को लेकर ग्रीस के वित्त मंत्री पर कड़ा रूख अपनाने का आरोप लगता रहा है। अपने इस्तीफे के बाद वलारफाकिफ ने कहा कि वे जानते हैं कि यूरोपिय देश उनके बारे में क्या राय रखते हैं। वे इसलिए इस्तीफा दे रहे हैं ताकि प्रधानमंत्री इस मसले को अपने तरीके से सुलझाएं और यूरोपिय देशों के साथ किसी समझौते तक पहुंच सकें। उन्होंने कहा कि जनमत संग्रह के जो नतीजे आए हैं उसका कड़ा परिणाम ग्रीस की जनता को भुगतना पड़ेगा। वे इसिलिए पद छोड़ रहे हैं कि ताकि समझौते की कोई सूरत निकाली जा सके।

ग्रीस संकट से यूरोप में भारी उथल पुथल की आशंका जताई है। माना जा रहा है कि यह संकट यूरोप तक सीमित नहीं होगा बल्कि दुनिया भर की अर्थव्यवस्थाएं इसके प्रभाव में आएंगी। यही कारण है भारत में वित्त मंत्रालय से लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया लगातार बयान जारी कर यह आश्वसन दे रहे हैं कि भारत में इस संकट का आंशिक असर होगा। लेकिन यह तय कि स्थिति चिंताजनक है और भारत पर इसका कितना असर होगा इस बारे में फिलहाल मुकम्मल रूप से कुछ कह पाना मुश्किल है।

सरकार और रिजर्व बैंक स्थिति पर लगातार नजर रख रहे हैं और संकट से निपटने की रणनीतियों में व्यस्त हैं। आइए जानते हैं कि इस संकट का भारत पर क्या असर हो सकता है।

शेयर बाजार में भय का माहौल

ग्रीस के संकट से भारतीय बाजार में भय का माहौल है तथा शेयर तथा बांडों में धड़ाधड़ बिकवाली जारी है। वहीं, कुछ विशेषज्ञ इसका कारण जून में कमजोर पड़े मॉनसून को भी मान रहे हैं। माना जा रहा है कि ग्रीस संकट के असर से शेयर बाजार में भारी गिरावट हो सकती है।

निवेश पर होगा असर

ग्रीस संकट से निवेश पर असर पड़ने की संभावना है और विदेशी निवेशक भारतीय बाजार से पैसा निकाल सकते हैं। भारतीय शेयर बाजार में विदेशी निवेशकों की हिस्सेदारी 25 फीसद है। लेकिन भारत जैसी उभरती अर्थव्यवस्था और चीन की अस्थिरता को देखते हुए कम ही निवेशक होंगे जो भारतीय बाजार से पैसा निकालेंगे। हालांकि वित्त सचिव राजीव मेहर्षि का कहना है कि निवेशकों के रूख पर सरकार रिजर्व बैंक के साथ मिलकर नजर रख रही है और जरूरत पड़ने पर कई कदम उठाए जाएंगे।

रुपये की विनिमय दर पर असर

वहीं, इस संकट का असर रुपये की विनिमय दर पर पड़ने की संभावना है। यूरो के कमजोर होने से डॉलर में मजबूती आएगी, जिसके कारण डॉलर के मुकाबले रुपया और कमजोर होगा। हालांकि इस हफ्ते डॉलर के मुकाबले रुपये का रुख मजबूती का रहा है। रिजर्व बैंक ने कहा है कि भारत के पास पर्याप्त विदेशी मुद्रा का भंडार है और मुद्रा की विनिमय दर के किसी भी संकट से निपटने के लिए भारत पूरी तरह तैयार है। फिलहाल हमारा विदेशी मुद्रा भंडार 355 बिलियन डॉलर है जो अब तक का सबसे बड़ा भंडार है।

टूटेगी ब्याज दरों में कटौती की आस

आरबीआई फिलहाल ग्रीस संकट को देखते हुए ब्याज दरों में कटौती का प्रस्ताव टाल सकता है। खासतौर से बेहतर मॉनसून की संभावना और काबू में आ रही मुद्रास्फिति को देखते हुए यह उम्मीद थी की अगले महीने आरबीआई ब्याज दरों में कटौती का एलान कर सकता है। लेकिन अब इसकी संभावना नहीं दिख रही।

सॉफ्टवेयर और इंजीनियरिंग निर्यात पर होगा असर

इस संकट का असर भारत से सॉफ्टवेयर और इंजीनियरिंग निर्यात पर हो सकता है। सोमवार को सरकार और उद्योग मंडलों की तरफ से यह चेतावनी जारी की गई है। भारतीय कंपनियों के इंजिनियरिंग प्रॉडक्ट की सबसे बड़ा मार्केट यूरोपीय यूनियन है। विशेषज्ञों के मुताबिक ग्रीस के अलावा इंगलैंड, इटली, टर्की और फ्रांस जैसे देशों को किए जाने वाले निर्यात पर भी इस संकट का असर होगा। हालांकि यह असर कुछ समय के लिए ही होगा जल्दी ही बाजार में स्थिरता आएगी। इस नुकसान की भरपाई भारत के धरेलू बाजार से भी होने की संभावना है।

ग्रीस में रहनेवाले 12,000 भारतीय परेशानी में

ग्रीस में रहने वाले 12000 भारतीय जनमत संग्रह के बाद ग्रीस के यूरो जोन से निकलने को तय मानकर परेशानी में हैं। जनमत संग्रह के बाद आगे की रणनीति तय करने के लिए मंगलवार को यूरोजोन के देशों के वित्तमंत्री बैठक करने जा रहे हैं। ग्रीस के प्रधानमंत्री सिप्रास ने कहा, 'हम भी इस मीटिंग में भाग लेगें। हम चाहते हैं कि दिक्कतों के बाद भी हमारी बैंकिंग व्यवस्था में यूरो जोन यकीन रखे, इसलिए हम इस मीटिंग में भाग लेंगे।' ऐसे में ग्रीस की अपनी करंसी को लेकर कई तरह से के सवाल उठने लगे हैं। सबसे बड़ा सवाल ग्रीस की करंसी की वेल्यु का है। फिलहाल ग्रीस में यूरो चलता है जिसकी भारतीय रुपए के हिसाब से कीमत करीब 70 रुपये है लेकिन ग्रीस के यूरोजोन से निकलने के बाद ग्रीस की अपनी करंसी कब आएगी इसकी वेल्यु क्या होगी। इस करंसी का आकलन कैसे होगा इसे लेकर ढेरों सवाल ग्रीस में रह रहे भारतीयों और भारत में उनके परिजनों को परेशान कर रहे हैं।

क्या है ग्रीस संकट

ग्रीस की जनता ने कर्जदाताओं (यूरोपियन सेंट्रल बैंक, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और यूरोपिय आयोग) की शर्तों को नकारते हुए \'नो\' के पक्ष में मतदान किया। लेकिन बड़े यूरोपिय देशों को दी गई ग्रीस की जनता की इस चुनौती का खामियाजा उसे यूरो जोन से बाहर होने के रूप में भुगतना पड़ेगा।

ग्रीस पर मार्च 2015 तक 312.7 अरब यूरो का कर्ज है, जो कि ग्रीस की अर्थव्यवस्ता का 174 फीसद है। लेकिन फिलहाल ग्रीस को आईएमएफ से लिए गए कर्ज में से 1.5 बिलियन यूरो वापस करना था, जिसे समय पर नहीं लौटाया गया। इसके बाद यूरोपिय देशों ने ग्रीस को बेलआउट पैकेज देने को लेकर कई शर्ते रखी थी।

इसे लेकर ग्रीस ने अपने यहां जनमत संग्रह कराया। इस जनमत संग्रह में 1.1 करोड की आबादी वाले देश ग्रीस के 62 फीसद लोगों ने यूरोपिय देशों के बेलआउट पैकेज को नकारते हुए, कर्ज नहीं चुकाने और कर्ज की शर्तों में बदलाव के लिए मतदान किया।

जनमत संग्रह के बाद ग्रीस ने यूरोज़ोन को बड़े नुक़सान की चेतावनी दी है। ग्रीस के वित्त मंत्री यानिस वारूफाकिस ने चेताया है कि 'अगर उनके देश को मदद नहीं मिली और देश दिवालिया हुआ तो यूरोज़ोन के अन्य देशों को एक हज़ार अरब यूरो का नुकसान होगा। हमें बैंक बंद करने के लिए बाध्य क्यों किया गया? यूरोपीय संघ के नेता ग्रीस के साथ जो कर रहे हैं, वो चरमपंथ के समान है।'

हालांकि, यूरो जोन के देशों का कहना है कि इससे उन पर कोई खास असर नहीं होगा, क्योंकि यह उनकी संयुक्त अर्थव्यवस्था का मात्र 2 फीसद है।

क्या है ग्रीस के कर्जदाताओं की शर्तें...
(पढ़ें कमेंट्स में)

 
135
 
1209 days
 
Heart catcher

# spiders
#Facts
They are the largest order of Arachnids.
They are 7th in the world when it comes to diversity among their populations.

Antarctica is the only continent in the world where you can\'t find spiders.

Most spiders don\'t live in the bodies of water, only a few species. They are able to live in all other types of habitat.

They don\'t have antenna which is what separates them from insects.

There has only been one species identified as vegetarian the rest are all predators: Bagheera kiplingi.

Most spiders feature 4 sets of eyes. The pattern of how they are arranged though will depend on the species.

In some species, males are often much smaller than the females in size.

The number of eggs a female delivers can be up to 3,000.

Arachnophobia is the fear of Spiders. It is one of the most common fears in the world. It affects approximately 10% of men and 50% of women. The severity of the fear can vary.

The largest spider is the Giant Bird Eating Spider and the Huntsman spider is the world\'s largest spider by leg-span.

The smallest spider is the Patu digua endemic to Colombia.

The strongest material in the world is considered the silk that Spiders create. Scientists haven\'t been able to recreate this design even with all the technology we have today.

The Brazilian wandering spider or Banana spider, is the most poisonous of all Spiders.


The blood of a Spider is light blue in color.

The stickiness of a Spider web makes it hard to keep dust and particles out. This is why they are continually being rebuilt.

Spider\'s molt which is the process of shedding skin and growing new in its place.

Spiders are near sided so they aren\'t able to see items that are far away from them.

Hydraulic power is what allows the Spider to move around, they don\'t have muscles in their limbs.

Jumping Spiders are able to jump up to 50 times their own length. This is possible due to increasing the amount of blood pressure found in the back limbs.

When a Spider is moving there are always 4 legs on the surface and 4 off of it.

Spiderman is one of the most popular super heroes. This is also one of the few times that movies have portrayed the Spider positively other than in Charlottes Web.

Very few people die or become seriously ill from Spider bites. Yet there is enough media attention surrounding them when it does occur that it creates a frenzy.

Spiders are classified as invertebrates. They don\'t have a backbone.

There are believed to be at least 40,000 species of Spiders in the world.

Spiders help the environment by eliminating volumes of insects that would otherwise be around in your garden and other locations.

When a Spider is going to make a new web, they roll the old one up first into a ball. Many species will eat it. They extract juices from their body onto it so that it will be liquefied.

 
119
 
1146 days
 
GauravJD

*How to write Table of any two digit number?*

For example Table of *87*

First write down *table of 8 than write down table of 7 beside*

8 7 87
16 14 (16+1) 174
24 21 (24+2) 261
32 28 (32+2) 348
40 35 (40+3) 435
48 42 (48+4) 522
56 49 (56+4) 609
64 56 (64+5) 696
72 63 (72+6) 783
80 70 (80+7) 870

*This way one can make Tables from10 to 99 .*

*share & teach children*

 
346
 
792 days
 
dre@m_factory
LOADING MORE...
BACK TO TOP