Amazing Info (71 in 1 year | sorting by most liked)

¶मोबाइल से जुडी कई ऐसी बातें जिनके बारे में हमें जानकारी नहीं होती लेकिन मुसीबत के वक्त यह मददगार साबित होती है ।


इमरजेंसी नंबर ---

दुनिया भर में मोबाइल का इमरजेंसी नंबर 112 है । अगर आप मोबाइल की कवरेज एरिया से बाहर हैं
तो 112 नंबर द्वारा आप उस क्षेत्र के नेटवर्क को सर्च कर लें। ख़ास बात यह है कि यह नंबर तब भी काम करता है जब आपका की पैड लौक हो।


जान अभी बाकी है---

मोबाइल जब बैटरी लो दिखाए और उस दौरान जरूरी कॉल करनी हो, ऐसे में आप *3370# डायल करें । आपका मोबाइल फिर से चालू हो जायेगा और आपका सेलफोन बैटरी में 50 प्रतिशत का इजाफा दिखायेगा। मोबाइल का यह रिजर्व दोबारा चार्ज हो जायेगा जब आप अगली बार मोबाइल को हमेशा की तरह चार्ज करेंगे।


मोबाइल चोरी होने पर---

मोबाइल फोन चोरी होने की स्थिति में सबसे पहले जरूरत होती है, फोन को निष्क्रिय करने की ताकि चोर उसका दुरुपयोग न कर सके । अपने फोन के सीरियल नंबर को चेक करने के लिए *#06# दबाएँ । इसे दबाते ही आपकी स्क्रीन पर 15 डिजिट का कोड नंबर आयेगा। इसे नोट कर लें और किसी सुरक्षित स्थान पर रखें। जब आपका फोन खो जाए उस दौरान अपने सर्विस प्रोवाइडर को ये कोड देंगे तो वह आपके हैण्ड सेट को ब्लोक कर देगा।


कार की चाभी खोने पर ---

अगर आपकी कार की रिमोट की लेस इंट्री है। और गलती से आपकी चाभी कार में बंद रह गयी है। और दूसरी चाभी घर पर है। तो आपका मोबाइल काम आ सकता है। घर में किसी व्यक्ति के मोबाइल फोन पर कॉल करें। घर में बैठे व्यक्ति से कहें कि वह अपने मोबाइल को होल्ड रखकर कार की चाभी के पास ले जाएँ और चाभी के अनलॉक बटन को दबाये। साथ ही आप अपने मोबाइल फोन को कार के दरवाजे के पास रखें....। दरवाजा खुल जायेगा।

है न विचित्र किन्तु सत्य......!!!

अधिक से अधिक शेयर करें।
एंड्राइड मोबाइल यूजर के काम के कोड
1. Phone Information, Usage and Battery - *#*#4636#*#*

2. IMEI Number - *#06#

3. Enter Service Menu On Newer Phones - *#0*#

4. Detailed Camera Information -*#*#34971539#*#*

5. Backup All Media Files -*#*#273282*255*663282*#*#*

6. Wireless LAN Test -*#*#232339#*#*

7. Enable Test Mode for Service -*#*#197328640#*#*

8. Back-light Test - *#*#0842#*#*

9. Test the Touchscreen -*#*#2664#*#*

10. Vibration Test -*#*#0842#*#*

11. FTA Software Version -*#*#1111#*#*


बड़े काम के कोड है इसलिए शेयर करे और दुसरो को भी बताये !

 
696
 
224 days
 
DDLJ143

घर में गरीबी आने के कारण😴
1=रसोई घर के पास में पेशाब करना ।
2=टूटी हुई कन्घी से कंगा करना ।
3=टूटा हुआ सामान उपयोग करना।
4= घर में कूडा-करकट रखना।
5=रिश्तेदारो से बदसुलूकी करना।
6=बांए पैर से पैंट पहनना।
7=सांध्या वेला मे सोना।
8=मेहमान आने पर नाराज होना।
9=आमदनी से ज्यादा खर्च करना।
10=दाँत से रोटी काट कर खाना।
11=चालीस दीन से ज्यादा बाल रखना
12=दांत से नाखून काटना।
14=औरतो का खडे खडे बाल बांधना।
15 =फटे हुए कपड़े पहनना ।
16=सुबह सूरज निकलने तक सोते रहना।
17=पेंड के नीचे पेशाब करना।
18=बैतूल खला में बाते करना।
19=उल्टा सोना।
20=श्यमशान भूमि में हसना ।
21=पीने का पानी रात में खुला रखना
22=रात में मागने वाले को कुछ ना देना
23=बुरे ख्याल लाना।
24=पवित्रता के बगैर धर्मग्रंथ पढना।
25=शौच करते वक्त बाते,करना।
26=हाथ धोए बगैर भोजन करना ।
27=अपनी औलाद को कोसना।
28=दरवाजे पर बैठना।
29=लहसुन प्याज के छीलके जलाना।
30=साधू फकीर को अपमानित करना या उससे रोटीया फिर और कोई चीज खरीदना।
31=फूक मार के दीपक बुझाना।
32=ईश्वर को धन्यवाद किए बगैर भोजन
करना।
33=झूठी कसम खाना।
34=जूते चप्पल उल्टा देख कर उसको सीधा नही करना।
35=हालात जनाबत मे हजामत करना।
36=मकड़ी का जाला घर में रखना।
37=रात को झाडू लगाना।
38=अन्धेरे में भोजन करना ।
39=घड़े में मुंह लगाकर पानी पीना।
40=धर्मग्रंथ न पढ़ना।
41=नदी,तालाब में शौच साफ करना और उसमें पेशाब करना ।
42=गाय , बैल को लात मारना ।
43=माँ-बाप का अपमान करना ।
44=किसी की गरीबी और लाचारी का मजाक उडाना ।
45=दाँत गंदे रखना और रोज स्नान न करना ।
46=बिना स्नान किये और संध्या के समय भोजन करना ।
47=पडोसियों का अपमान करना, गाली देना ।
48=मध्यरात्रि में भोजन करना ।
49=गंदे बिस्तर में सोना ।
50=वासना और क्रोध से भरे रहना ।
51= दूसरे को अपने से हीन समझना 🙂। आदि ।
शास्त्रों में है कि जो दूसरो का भला करता है।
ईश्वर उसका भला करता है।

 
689
 
344 days
 
Shubhiii

☞. *P D F* का मतलब है?
उत्तर:- *Portable Document Format.*

☞. *H T M L* का मतलब है?
उत्तर:- *Hyper Text Mark up Language.*

☞. *N E F T* का मतलब है?
उत्तर:- *National Electronic Fund Transfer.*

☞. *M I C R* का मतलब है?
उत्तर:- *Magnetic Inc Character Recognition.*

☞. *I F S C* का मतलब है?
उत्तर:- *Indian Financial System Code.*

☞. *I S P* का मतलब है?
उत्तर:- *Internet Service Provider.*

☞. *E C S* का मतलब है?
उत्तर:- *Electronic Clearing System.*

☞. *C S T* का मतलब है?
उत्तर:- *Central Sales Tax.*

☞. *CRR* का मतलब है?
उत्तर:- *Cash Reserve Ratio.*

☞. *U D P* का मतलब है?
उत्तर:- *User Datagram Protocol.*

☞. *R T C* का मतलब है?
उत्तर:- *Real Time Clock.*

☞. *I P* का मतलब है?
उत्तर:- *Internet Protocol.*

.☞. *C A G* का मतलब है?
उत्तर:- *Comptroller and Auditor General.*

.☞. *F E R A* का मतलब है?
उत्तर:- *Foreign Exchange Regulation Act.*

☞. *I S R O* का मतलब है?
उत्तर:- *International Space Research organization.*

☞. *I S D N* का मतलब है?
उत्तर:- *Integrated Services Digital Network.*
.
☞. *SAARC* का मतलब है?
उत्तर:- *South Asian Association for Regional co -operation.*

☞. *O M R* का मतलब है?
उत्तर:- *Optical Mark Recognition.*

☞. *A H R L* का मतलब है?
उत्तर:- *Asian Human Right Commission.*

☞. *J P E G* का मतलब है?
उत्तर:- *Joint photo Expert Group.*

☞. *U. R. L.* का मतलब है?
उत्तर:- *Uniform Resource Locator.*

☞. *I R D P* का मतलब है?
उत्तर:- *Integrated Rural Development programme.*

☞. *A. S. L. V.* का मतलब है?
उत्तर:- *Augmented satellite Launch vehicle.*

☞. *I. C. U.* का मतलब है?
उत्तर:- *Intensive Care Unit.*

☞. *A. T. M.* का मतलब है?
उत्तर:- *Automated Teller Machine.*

☞. *C. T. S.* का मतलब है?
उत्तर:- *Cheque Transaction System.*

☞. *C. T. R* का मतलब है?
उत्तर:- *Cash Transaction Receipt.*

☞. *N E F T* का मतलब है?
उत्तर:- *National Electronic Funds Transfer.*

☞. *G D P* का मतलब है?
उत्तर:- *Gross Domestic Product.*

☞. *F D I* का मतलब है?
उत्तर:- *Foreign Direct Investment .*

☞. *E P F O* का मतलब है?
उत्तर:- *Employees Provident Fund Organization.*

☞. *C R R* का मतलब है?
उत्तर:- *Cash Reserve Ratio.*

☞. *CFRA* का मतलब है?
उत्तर:- *Combined Finance & Revenue Accounts.*

☞. *GPF* का मतलब है?
उत्तर:- *General Provident Fund.*

☞. *GMT* का मतलब है?
उत्तर:- *Global Mean Time.*

☞. *GPS* का मतलब है?
उत्तर:- *Global Positioning System.*

☞. *GNP* का मतलब है?
उत्तर:- *Gross National Product.*

☞. *SEU* का मतलब है?
उत्तर:- *Slightly Enriched Uranium.*

☞. *GST* का मतलब है?
उत्तर:- गुड्स एण्ड सर्विस टैक्स *(Goods and ServiceTax).*

☞. *GOOGLE* का मतलब है?
उत्तर:- *Global Organization Of Oriented GroupLanguage Of Earth.*

☞. *YAHOO* का मतलब है?
उत्तर:- *Yet Another Hierarchical Officious Oracle .*

☞. *WINDOW* का मतलब है?
उत्तर:- *Wide Interactive Network Development forOffice work Solution .*

☞. *COMPUTER* का मतलब है?
उत्तर:- *Common Oriented Machine ParticularlyUnited and used under Technical and EducationalResearch.*

☞. *VIRUS* का मतलब है?
उत्तर:- *Vital Information Resources Under Siege.*

☞. *UMTS* का मतलब है?
उत्तर:- *Universal Mobile TelecommunicationsSystem.*

☞. *AMOLED* का मतलब है?
उत्तर:- *Active-matrix organic light-emitting diode.*

☞. *OLED* का मतलब है?
उत्तर:- *Organic light-emitting diode*

☞. *IMEI* का मतलब है ?
उत्तर:- *International Mobile EquipmentIdentity.*

☞. *ESN* का मतलब है?
उत्तर:- *Electronic Serial Number.*

🍁🍁🍁 🍁🍁🍁

 
565
 
315 days
 
Anonymous

*अतिउपयोगी 29 घरेलू नुस्‍खे...!!*​

👉🏽 1. तेज सिरर्दर्द से छुटकारा पाने के लिए सेब को छिल कर बारीक काटें। उसमें थोड़ा सा नमक मिलाकर सुबह खाली पेट खाएं।

👉🏽 2. (Periods) में दर्द से छुटकारा पाना के लिए ठंडे पानी में दो-तीन नींबू निचोड़ कर पिये।

👉🏽 3. शरीर पर कहीं जल गया हो, तेज धूप से त्वचा झुलस गई हो, त्वचा पर झुर्रियां हों या कोई त्वचा रोग हो तो कच्चे आलू का रस निकालकर लगाने से फायदा होता हैं।

👉🏽 4. मक्खन में थोड़ा सा केसर मिलाकर रोजाना लगाने से काले होंठ भी गुलाबी होने लगते हैं।

👉🏽 5. मुंह की बदबू से परेशान हों तो दालचीनी का टुकड़ा मुंह में रखें।
मुंह की बदबू तुरंत दूर हो जाती हैं।

👉🏽 6. बहती नाक से परेशान हों तो युकेलिप्टस(सफेदा) का तेल रूमाल में डालकर सूंघे। आराम मिलेगा।

👉🏽 7. कुछ दिनों तक नहाने से पहले रोजाना सिर में प्याज का पेस्ट लगाएं।
बाल सफेद से काले होने लगेंगे।

👉🏽 8. चाय पत्ती के उबले पानी से बाल धोएं, इससे बाल कम गिरेंगे।

👉🏽 9. बैंगन के भरते में शहद मिलाकर खाने से अनिद्रा रोग का नाश होता है।
ऐसा शाम को भोजन में भरता बनाते समय करें।

👉🏽 10. संतरे के रस में थोड़ा सा शहद मिलाकर दिन में तीन बार एक-एक कप पीने से गर्भवती की दस्त की शिकायत दूर हो जाती हैं।

👉🏽 11. गले में खराश होने पर सुबह-सुबह सौंफ चबाने से बंद गला खुल जाता हैं।

👉🏽 12. सवेरे भूखे पेट तीन चार अखरोट की गिरियां निकालकर कुछ दिन खाने मात्र से ही घुटनों का दर्द समाप्त हो जाता हैं।

👉🏽 13. ताजा हरा धनिया मसलकर सूंघने से छींके आना बंद हो जाती हैं।

👉🏽 14. प्याज का रस लगाने से मस्सो के छोटे-छोटे टुकड़े होकर जड़ से गिर जाते हैं।

👉🏽 15. प्याज के रस में नींबू का रस मिलाकर पीने से उल्टियां आना तत्काल बंद हो जाती हैं।

👉🏽 16. गैस की तकलीफ से तुरंत राहत पाने के लिए लहसुन की 2 कली छीलकर 2 चम्मच शुद्ध घी के साथ चबाकर खाएं फौरन आराम होगा।

👉🏽 17. मसालेदार खाना खाएं मसालेदार खाना आपकी बंद नाक को तुरंत ही खोल देगा।

👉🏽 18. आलू का छिलका आपकी त्वचा पर ब्लीच की तरह काम करता है। इसे लगाने से आपकी काली पड़ी त्वचा का रंग सुधरता है।
इसलिए आज के बाद आलू के छिलके को फेके नहीं बल्कि उनका इस्तेमाल करें।

👉🏽 19. यदि आपको अकसर मुंह में छाले होने की शिकायत रहती है तो रोज़ाना खाना खाने के बाद गुड को चूसना ना भूलें। ऐसा करने छाले आपसे बहुत दूर रहेंगे।

👉🏽 20. पतली छाछ में चुटकी भर सोडा डालकर पीने से पेशाब की जलन दूर होती ह

👉🏽 21. प्याज और गुड रोज खाने से बालक की ऊंचाई बढती हैं।

👉🏽 22. रोज गाजर का रस पीने से दमें की बीमारी जड़ से दूर होती हैं।

👉🏽 23. खजूर गर्म पानी के साथ लेने से कफ दूर होता हैं।

👉🏽 24. एक चम्‍मच समुद्री नमक लें और अपनी खोपड़ी पर लगा लें। इसे अच्‍छी तरह से मसाज करें और ऐसा करते समय उंगलियों को गीला कर लें। बाद में शैम्‍पू लगाकर सिर धो लें। महीने में एक बार ऐसा करने से रूसी नहीं होगी।

👉🏽 25. अगर आपके नाखून बहुत कड़े हैं तो उन्‍हे काटने से पहले हल्‍के गुनगुने पानी में नमक डालकर, हाथों को भिगोकर रखें। और 10 मिनट बाद उन नाखूनों को काट दें। इससे सारे नाखून आसानी से कट जाएंगे।

👉🏽 26. शरीर में कहीं गुम चोट लग जाए या नकसीर आए तो बर्फ की सिकाई बहुत फायदेमंद होती हैं।

👉🏽 27. अगर कोई कीड़ा-मकोड़ा काट ले, तो तुरंत कच्चे आलू का एक पतला टुकड़ा काटकर उस पर नमक लगाकर कीड़े के काटे हुए स्थान पर 5-7 मिनट तक रगड़ें।जलन और दर्द गायब हो जाएगा।

👉🏽 28. बवासीर से छुटकारा पाने के लिए सुबह खाली पेट 2 आलू-बुखारे खाए

👉🏽 29. दांत के दर्द से छुटकारा पाने के लिए अदरक का छोटा सा टुकड़ा चबाएं। दर्द तुरंत दूर हो जाएगा....!!

 
527
 
277 days
 
DDLJ143

धरती पर रहने के बाद भी आप नहीं जानते होंगे धरती से संबंधित ये 20 राज़

ये हमारी धरती किसी जादू के पिटारे से कम नहीं है. आप चाहे धरती के किसी भी कोने में चले जायें, आपको वहां कुछ न कुछ ऐसा देखने को मिल जायेगा, जिस पर विश्वास कर पाना आपके लिए बहुत मुश्किल हो सकता है. धरती पर एक ही समय में किसी हिस्से में दिन होता है तो किसी हिस्से में रात. एक ही समय कहीं बर्फ़ गिर रही होती है तो कहीं गर्मी. इसके अलावा कई सागर, महासागर, पहाड़ और अन्य कई ऐसी प्राकृतिक चीज़ें हैं, जो धरती को एक रहस्य का बक्सा बनाती हैं. हम जितना ही इसके रहस्यों को सुलझाने की कोशिश करते हैं, ये उतना ही उलझता जाता है.

1. Diomede आइलैंड दो आइलैंड्स से निर्मित है. जिसमें से एक पर रूस का अधिकार है और दूसरे पर अमेरिका का. दोनों आइलैंड्स के बीच की दूरी 2.4 किलोमीटर है. पर दोनों के समय में 21 घंटों का अंतर है.

2. मॉरीशस में एक छोटी जगह है, जहां बालू के मैदान हैं. पर खास बात ये है कि इस मैदान में बालू के कई रंग दिखते हैं. कई लोगों का मानना है कि ये सात रंगों को दर्शाता है.

3. रूस इतना बड़ा है कि ये ग्यारह टाइम-ज़ोन में बंटा हुआ है. एक तरफ जहां रूस का एक भाग सुबह के सात बजे नाश्ता कर रहा होता है, वहीं दूसरी ओर एक भाग शाम में 7 बजे स्नैक्स का लुत्फ़ उठा रहा होता है.

4. धरती पर उपलब्ध शुद्ध पीने योग्य पानी का 75 प्रतिशत भाग ग्लेशियर पर बर्फ में जमा है. इसके अलावा रूस के लेक बाइकाल में धरती पर न जमने वाला साफ़ पानी का 20 प्रतिशत स्टोर है.

5. Tennessee के Reelfoot लेक का निर्माण तीन शक्तिशाली भूकम्पों के प्रभाव से हुआ था. इनमें 1811 और 1812 में आये भूकम्प भी शामिल थे. इसकी तीव्रता रेक्टर स्केल पर लगभग 8 Magnitude दर्ज की गयी थी.

6. दक्षिणी प्रशांत महासागर में एक जगह है, जिसका नाम पॉइंट नीमो है. ये किसी भी स्थलीय जीवन से सबसे ज़्यादा दूर है, इसका मतलब ये है दुनिया में किसी भी जमीनी सतह से इतनी दूर कोई और समुद्री पॉइंट नहीं है. ये अपने नजदीकी स्थलीय जीवन से 2,688 किलोमीटर दूर है.

7. Appalachian पर्वत लगातार सिकुड़ता जा रहा है और हिमालय पर्वत लगातार बढ़ता जा रहा है. Appalachian पर्वत के लगातार कटाव की वजह वर्षा के पानी से हो रहा अपरदन बताया जाता है. साथ ही हिमालय पर्वत की लम्बाई में हर साल 5 मिलीमीटर की बढ़ोतरी देखी जा रही है.

8. ऑस्ट्रेलिया में कुत्तों को शहर से दूर रखने के लिए एक खास क़िस्म का बाड़ा बनाया गया है, जिसकी लम्बाई 3,500 मील है. यकीन मानिये ये दूरी Seattle और Miami के बीच की दूरी से भी ज़्यादा है. इसका निर्माण 1880 और 1885 के बीच हुआ था. ये दुनिया की सबसे बड़ी मानव-निर्मित चीज़ों में से एक है. इसकी देखभाल के लिए 23 लोगों की टीम काम करती है.

9. विश्व का सबसे बड़ा महासागर प्रशांत महासागर है. इस महासागर का प्रतिद्वंदी ये खुद ही है. इस महासागर में कुछ ऐसे पॉइंट्स हैं, जहां से अगर कोई डुबकी लगाता है और पूरी दुनिया घूम कर वापस निकलता है तो वो प्रशांत महासागर के दूसरे किनारे पर खड़ा होगा. आधी धरती प्रशांत महासागर ने हथिया रखी है.

10. चीन का Er Wang Dong Cave और वियतनाम का Hang Son Doong Cave इतनी विशाल है कि इसके अन्दर बाहर के मौसम का कोई असर नहीं होता. ये अपना खुद की स्वतंत्र मौसम प्रणाली फॉलो करता है.

11. अगर धरती के केंद्र बिंदु से मापा जाये तो सबसे ऊंचा पर्वत माउंट एवेरेस्ट नहीं, Chimborazo होगा.

12. आपको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया का सबसे बड़ा फार्म Anna Creek स्टेशन है, जो एक देश इज़राइल से भी बड़ा है. ये फार्म साउथ ऑस्ट्रेलिया में हैं और 60 लाख एकड़ में फैला हुआ है.

13. ब्राज़ील में एक स्टेडियम है, जिसमें मैदान की जो मिडलाइन है, वो बिलकुल वहीँ खींची गयी है, जहां से गोलार्द्ध पर भूमध्य रेखा गुजरती है.

14. ज्वालामुखी Yellowstone की निचली सतह में इतना लावा है कि उससे Grand Canyon को ग्यारह बार भरा जा सकता है.

15. यूनाइटेड स्टेट्स में फोर कॉर्नर्स के नाम से ऐसी जगह है, जहां आप एक ही वक़्त पर Arizona, New Mexico, Utah और Colorado में हो सकते हैं.

16. दुनिया की आधी से ज़्यादा जनसंख्या ग्लोब के एक ही हिस्से के छोटे क्षेत्रों में रहती है, जिसमें चीन, भारत और साउथईस्ट एशिया के कुछ देश शामिल हैं.

17. कनाडा में एक ऐसा आइलैंड है, जिसका अपना लेक है. फिर इस आइलैंड का भी एक आइलैंड है और इस आइलैंड का भी एक लेक है और उस लेक का एक आइलैंड और एक लेक है.

18. मरुस्थल का अर्थ हमारे लिए ये है कि जहां सूरज की गर्मी असह्य हो और बस रेत ही रेत हो. लेकिन भौगोलिक संदर्भ में इसका मतलब कुछ और है. इसका मतलब है जहां तापमान अधिकतम हो और नमी की कोई मौजूदगी न हो. इस परिभाषा से पृथ्वी का एक तिहाई भाग मरुस्थल है. इस हिसाब से दुनिया का सबसे बड़ा मरुस्थल अंटाकर्टिका है.

19. डेड सागर यानि मृत सागर हर साल एक मीटर प्रति वर्ष के हिसाब से घटता जा रहा है. फ़िलहाल ये समुद्र तट से 429 मीटर नीचे चला गया है.

20. Kiribati एकमात्र ऐसा देश है, जो दुनिया के चारों गोलार्द्धों पर टिका हुआ है.

 
519
 
356 days
 
Sam's Son

*हाथ की पांच उंगलिया*

हमारे हाथ की पांचो उंगलिया शरीर के अलग अलग अंगों से जुडी होती है | इसका मतलब आप को दर्द नाशक दवाइयां खाने की बजाए इस आसान और प्रभावशाली  तरीके का इस्तेमाल करना करना चाहिए | आज इस लेख के माध्यम  से हम आपको बतायेगे के शरीर के किसी हिस्से का दर्द सिर्फ हाथ की उंगली को रगड़ने से कैसे दूर होता है |

हमारे हाथ की अलग अलग उंगलिया अलग अलग बिमारिओ और भावनाओं से जुडी होती है | शायद आप को पता न हो, हमारे हाथ की उंगलिया चिंता, डर और चिड़चिड़ापन दूर करने की क्षमता रखती है | उंगलियों पर धीरे से दबाव डालने से शरीर के कई अंगो पर प्रभाव पड़ेगा |

*1. अंगूठा*
*- The Thumb*
हाथ का अंगूठा हमारे फेफड़ो से जुड़ा होता है | अगर आप की दिल की धड़कन तेज है तो हलके हाथो से अंगूठे पर मसाज करे और हल्का सा खिचे | इससे आप को आराम मिलेगा |

*2. तर्जनी*
*- The Index Finger*
ये उंगली आंतों  gastro intestinal tract से जुडी होती है | अगर आप के पेट में दर्द है तो इस उंगली को हल्का सा रगड़े , दर्द गयब हो जायेगा।

*3. बीच की उंगली*
*- The Middle Finger*
ये उंगली परिसंचरण तंत्र तथा circulation system से जुडी होती है | अगर आप को चक्कर या  आपका जी घबरा रहा है तो इस उंगली पर मालिश करने से तुरंत रहत मिलेगी |

*4. तीसरी उंगली*
*- The Ring Finger*
ये उंगली आपकी मनोदशा से जुडी होती है | अगर किसी कर्ण आपका मनोदशा अच्छा नहीं है या शांति चाहते हो तो इस उंगली को हल्का सा मसाज करे और खिचे, आपको जल्द ही इस के अच्छे नतीजे प्राप्त हो जयेगे, आप का मूड खिल उठे गा।

*5. छोटी उंगली*
*- The Little Finger*
छोटी उंगली का किडनी और सिर के साथ सम्बन्ध होता है | अगर आप को सिर में दर्द है तो इस उंगली को हल्का सा दबाये और मसाज करे, आप का सिर दर्द गायब हो जायेगा | इसे मसाज करने से किडनी भी तंदरुस्त रहती  है |


पोस्ट अच्छी लगे तो कम से कम अपने मित्रो और परिचित तक भेजे और स्वस्थ भारत के निर्माण मैं अपना पूर्ण योगदान दे।

🌸 धन्यवाद 🌸

 
491
 
243 days
 
DDLJ143

ज्योतिष के अनुसार नौ (९) आदतों से नवग्रहो का सम्मान कर सुधारें अपना घर - जीवन :🙏
१)👉::
अगर आपको कहीं पर भी थूकने की आदत है तो यह निश्चित है
कि आपको यश, सम्मान अगर मुश्किल से मिल भी जाता है तो कभी टिकेगा ही नहीं . wash basin में ही यह काम कर आया करें ! यश,मान-सम्मान में अभिवृध्दि होगी।

२)👉::
जिन लोगों को अपनी जूठी थाली या बर्तन वहीं उसी जगह पर छोड़ने की आदत होती है उनको सफलता कभी भी स्थायी रूप से नहीं मिलती.!
बहुत मेहनत करनी पड़ती है और ऐसे लोग अच्छा नाम नहीं कमा पाते.! अगर आप अपने जूठे बर्तनों को उठाकर उनकी सही जगह पर रख आते हैं तो चन्द्रमा और शनि का आप सम्मान करते हैं ! इससे मानसिक शांति बढ़ कर अड़चनें दूर होती हैं।

३)👉::
जब भी हमारे घर पर कोई भी बाहर से आये, चाहे मेहमान हो या कोई काम करने वाला, उसे स्वच्छ पानी ज़रुर पिलाएं !
ऐसा करने से हम राहु का सम्मान करते हैं.!
जो लोग बाहर से आने वाले लोगों को हमेशा स्वच्छ पानी पिलाते हैं उनके घर में कभी भी राहु का दुष्प्रभाव नहीं पड़ता.! अचानक आ पड़ने वाले कष्ट-संकट नहीं आते।

४)👉::
घर के पौधे आपके अपने परिवार के सदस्यों जैसे ही होते हैं, उन्हें भी प्यार और थोड़ी देखभाल की जरुरत होती है.!
जिस घर में सुबह-शाम पौधों को पानी दिया जाता है तो हम बुध, सूर्य और चन्द्रमा का सम्मान करते हुए परेशानियों का डटकर सामना कर पाने का सामर्थ्य आ पाता है ! परेशानियां दूर होकर सुकून आता है।
जो लोग नियमित रूप से पौधों को पानी देते हैं, उन लोगों को depression, anxiety जैसी परेशानियाँ नहीं पकड़ पातीं.!

५)👉::
जो लोग बाहर से आकर अपने चप्पल, जूते, मोज़े इधर-उधर फैंक देते हैं, उन्हें उनके शत्रु बड़ा परेशान करते हैं.!
इससे बचने के लिए अपने चप्पल-जूते करीने से लगाकर रखें, आपकी प्रतिष्ठा बनी रहेगी।

६)👉::
उन लोगों का राहु और शनि खराब होगा, जो लोग जब भी अपना बिस्तर छोड़ेंगे तो उनका बिस्तर हमेशा फैला हुआ होगा, सिलवटें ज्यादा होंगी, चादर कहीं, तकिया कहीं, कम्बल कहीं ?
उसपर ऐसे लोग अपने पुराने पहने हुए कपडे़ तक फैला कर रखते हैं ! ऐसे लोगों की पूरी दिनचर्या कभी भी व्यवस्थित नहीं रहती, जिसकी वजह से वे खुद भी परेशान रहते हैं और दूसरों को भी परेशान करते हैं.!
इससे बचने के लिए उठते ही स्वयं अपना बिस्तर समेट दें.! जीवन आश्चर्यजनक रूप से सुंदर होता चला जायेगा।

७)👉::
पैरों की सफाई पर हम लोगों को हर वक्त ख़ास ध्यान देना चाहिए, जो कि हम में से बहुत सारे लोग भूल जाते हैं ! नहाते समय अपने पैरों को अच्छी तरह से धोयें, कभी भी बाहर से आयें तो पांच मिनट रुक कर मुँह और पैर धोयें.!
आप खुद यह पाएंगे कि आपका चिड़चिड़ापन कम होगा, दिमाग की शक्ति बढे़गी और क्रोध
धीरे-धीरे कम होने लगेगा.! आनंद बढ़ेगा।

८)👉::
रोज़ खाली हाथ घर लौटने पर धीरे-धीरे उस घर से लक्ष्मी चली जाती है और उस घर के सदस्यों में नकारात्मक या निराशा के भाव आने लगते हैं.!
इसके विपरीत घर लौटते समय कुछ न कुछ वस्तु लेकर आएं तो उससे घर में बरकत बनी रहती है.!
उस घर में लक्ष्मी का वास होता जाता है.! हर रोज घर में कुछ न कुछ लेकर आना वृद्धि का सूचक माना गया है.!
ऐसे घर में सुख, समृद्धि और धन हमेशा बढ़ता जाता है और घर में रहने वाले सदस्यों की भी तरक्की होती है.!

९)👉..
जूठन बिल्कुल न छोड़ें । ठान लें । एकदम तय कर लें। पैसों की कभी कमी नहीं होगी।
अन्यथा नौ के नौ गृहों के खराब होने का खतरा सदैव मंडराता रहेगा। कभी कुछ कभी कुछ । करने के काम पड़े रह जायेंगे और समय व पैसा कहां जायेगा पता ही नहीं चलेगा।

 
487
 
345 days
 
Shubhiii

एक गोत्र में शादी क्यूँ नहीं..
================
वैज्ञानिक कारण..!
===========

एक दिन डिस्कवरी पर
जेनेटिक बीमारियों से
सम्बन्धित एक ज्ञानवर्धक कार्यक्रम था

उस प्रोग्राम में

एक अमेरिकी वैज्ञानिक ने कहा की
जेनेटिक बीमारी न हो
=============
इसका एक ही इलाज है
==============
और वो है
"सेपरेशन ऑफ़ जींस"
=============
मतलब अपने नजदीकी रिश्तेदारो में
विवाह नही करना चाहिए
क्योकि
नजदीकी रिश्तेदारों में
जींस सेपरेट (विभाजन) नही हो पाता
और
जींस लिंकेज्ड बीमारियाँ जैसे
हिमोफिलिया, कलर ब्लाईंडनेस, और
एल्बोनिज्म होने की
100% चांस होती है ..

फिर बहुत ख़ुशी हुई
जब उसी कार्यक्रम में
ये दिखाया गया की
आखिर
"हिन्दूधर्म" में
********
हजारों-हजारों सालों पहले
***************
जींस और डीएनए के बारे में
****************
कैसे लिखा गया है ?
************
हिंदुत्व में गोत्र होते है
*************
और
एक गोत्र के लोग
आपस में शादी नही कर सकते
ताकि
जींस सेपरेट (विभाजित) रहे.. ******************
उस वैज्ञानिक ने कहा की
===============
आज पूरे विश्व को मानना पड़ेगा की
********************
"हिन्दूधर्म ही"
*********
विश्व का एकमात्र ऐसा धर्म है जो
*******************
"विज्ञान पर आधारित" है !
****************

हिंदू परम्पराओं से जुड़े
%%%%%%%%%
ये वैज्ञानिक तर्क:
%%%%%%%
1-
कान छिदवाने की परम्परा:
***************
भारत में लगभग सभी धर्मों में
कान छिदवाने की
परम्परा है।
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
दर्शनशास्त्री मानते हैं कि
इससे सोचने की शक्त‍‍ि बढ़ती है।
जबकि
डॉक्टरों का मानना है कि इससे बोली
अच्छी होती है और
कानों से होकर दिमाग तक जाने वाली नस का
रक्त संचार नियंत्रित रहता है।

2-
माथे पर कुमकुम/तिलक
%%%%%%%%%%
महिलाएं एवं पुरुष माथे पर
कुमकुम या तिलक लगाते हैं
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
आंखों के बीच में
माथे तक एक नस जाती है।
कुमकुम या तिलक लगाने से
उस जगह की ऊर्जा बनी रहती है।
माथे पर तिलक लगाते वक्त जब अंगूठे या उंगली से प्रेशर पड़ता है,
तब चेहरे की त्वचा को रक्त सप्लाई करने वाली मांसपेशी सक्रिय हो जाती है।
इससे चेहरे की कोश‍‍िकाओं तक अच्छी तरह रक्त पहुंचता

3-
जमीन पर बैठकर भोजन
%%%%%%%%%%
भारतीय संस्कृति के अनुसार
जमीन पर बैठकर भोजन करना अच्छी बात होती है
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
पलती मारकर बैठना
************
एक प्रकार का योग आसन है।
******************
इस पोजीशन में बैठने से
**************
मस्त‍‍िष्क शांत रहता है और
भोजन करते वक्त
अगर दिमाग शांत हो तो
पाचन क्रिया अच्छी रहती है। इस पोजीशन में बैठते ही
खुद-ब-खुद दिमाग से 1 सिगनल
पेट तक जाता है, कि
वह भोजन के लिये तैयार हो जाये

4-
हाथ जोड़कर नमस्ते करना
%%%%%%%%%%%

जब किसी से मिलते हैं तो
हाथ जोड़कर नमस्ते अथवा नमस्कार करते हैं।
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
जब सभी उंगलियों के शीर्ष
एक दूसरे के संपर्क में आते हैं
और उन पर दबाव पड़ता है।
एक्यूप्रेशर के कारण उसका
सीधा असर
हमारी आंखों, कानों और दिमाग पर होता है,
ताकि सामने वाले व्यक्त‍‍ि को हम लंबे समय तक याद रख सकें।
दूसरा तर्क यह कि हाथ मिलाने (पश्च‍‍िमी सभ्यता) के बजाये अगर आप नमस्ते करते हैं
तो सामने वाले के शरीर के कीटाणु आप तक नहीं पहुंच सकते।
अगर सामने वाले को स्वाइन फ्लू भी है तो भी वह वायरस आप तक नहीं पहुंचेगा।

5-
भोजन की शुरुआत तीखे से और
%%%%%%%%%%%%
अंत मीठे से
%%%%%
जब भी कोई धार्मिक या
पारिवारिक अनुष्ठान होता है तो
भोजन की शुरुआत तीखे से और
अंत मीठे से होता है।
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
तीखा खाने से
हमारे पेट के अंदर
पाचन तत्व एवं अम्ल सक्रिय हो जाते हैं
इससे
पाचन तंत्र ठीक से संचालित होता है
अंत में
मीठा खाने से
अम्ल की तीव्रता कम हो जाती है
इससे पेट में जलन नहीं होती है

6-
पीपल की पूजा
%%%%%%
तमाम लोग सोचते हैं कि
पीपल की पूजा करने से
भूत-प्रेत दूर भागते हैं।
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
इसकी पूजा इसलिये की जाती है,
ताकि
इस पेड़ के प्रति लोगों का सम्मान बढ़े
और
उसे काटें नहीं
पीपल एक मात्र ऐसा पेड़ है, जो
रात में भी ऑक्सीजन प्रवाहित करता है

7-
दक्ष‍‍िण की तरफ सिर करके सोना
%%%%%%%%%%%%%
दक्ष‍‍िण की तरफ कोई पैर करके सोता है
तो लोग कहते हैं कि
बुरे सपने आयेंगे
भूत प्रेत का साया आयेगा,poorvajon ka esthaan,आदि
इसलिये
उत्तर की ओर पैर करके सोयें
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
जब हम
उत्तर की ओर सिर करके सोते हैं,
तब
हमारा शरीर पृथ्वी की चुंबकीय तरंगों की सीध में आ जाता है।
शरीर में मौजूद आयरन यानी लोहा
दिमाग की ओर संचारित होने लगता है
इससे अलजाइमर,
परकिंसन, या दिमाग संबंधी बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है
यही नहीं रक्तचाप भी बढ़ जाता है

8-
सूर्य नमस्कार
%%%%%%
हिंदुओं में
सुबह उठकर सूर्य को जल चढ़ाते
नमस्कार करने की परम्परा है।
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
पानी के बीच से आने वाली
सूर्य की किरणें जब
आंखों में पहुंचती हैं तब
हमारी आंखों की रौशनी अच्छी होती है

9-
सिर पर चोटी
%%%%%%
हिंदू धर्म में
ऋषि मुनी सिर पर चुटिया रखते थे
आज भी लोग रखते हैं
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
जिस जगह पर चुटिया रखी जाती है
उस जगह पर
दिमाग की सारी नसें आकर मिलती हैं
इससे दिमाग स्थ‍‍िर रहता है
और
इंसान को क्रोध नहीं आता
सोचने की क्षमता बढ़ती है।

10-
व्रत रखना
%%%%
कोई भी पूजा-पाठ, त्योहार होता है तो
लोग व्रत रखते हैं।
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
आयुर्वेद के अनुसार
व्रत करने से
पाचन क्रिया अच्छी होती है और
फलाहार लेने से
शरीर का डीटॉक्सीफिकेशन होता है
यानी
उसमें से खराब तत्व बाहर निकलते हैं
शोधकर्ताओं के अनुसार व्रत करने से
कैंसर का खतरा कम होता है
हृदय संबंधी रोगों,मधुमेह,आदि रोग भी
जल्दी नहीं लगते

11-
चरण स्पर्श करना
%%%%%%%
हिंदू मान्यता के अनुसार
जब भी आप किसी बड़े से मिलें तो
उसके चरण स्पर्श करें
यह हम बच्चों को भी सिखाते हैं
ताकि वे बड़ों का आदर करें
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
मस्त‍‍िष्क से निकलने वाली ऊर्जा
हाथों और सामने वाले पैरों से होते हुए
एक चक्र पूरा करती है
इसे
कॉसमिक एनर्जी का प्रवाह कहते हैं
इसमें दो प्रकार से ऊर्जा का प्रवाह होता है
या तो
बड़े के पैरों से होते हुए छोटे के हाथों तक
या फिर
छोटे के हाथों से बड़ों के पैरों तक

12-
क्यों लगाया जाता है सिंदूर
%%%%%%%%%%%
शादीशुदा हिंदू महिलाएं सिंदूर लगाती हैं
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
सिंदूर में
हल्दी,चूना और मरकरी होता है
यह मिश्रण
शरीर के रक्तचाप को नियंत्रित करता है
चूंकि
इससे यौन उत्तेजनाएं भी बढ़ती हैं
इसीलिये
विधवा औरतों के लिये
सिंदूर लगाना वर्जित है
इससे स्ट्रेस कम होता है।

13-
तुलसी के पेड़ की पूजा
%%%%%%%%%
तुलसी की पूजा करने से घर में समृद्ध‍‍ि आती है
सुख शांति बनी रहती है।
वैज्ञानिक तर्क-
%%%%%%
तुलसी इम्यून सिस्टम को मजबूत करती है
लिहाजा अगर घर में पेड़ होगा तो
इसकी पत्त‍‍ियों का इस्तेमाल भी होगा और
उससे बीमारियां दूर होती हैं।

अगर पसंद आया
तो शेयर कीजिये
🌹💐

 
468
 
219 days
 
ROHIT.BANSAL

*रूपये का इतिहास*
जरूर पढे
प्राचीन भारतीय मुद्रा प्रणाली*
अपने बचचौ को जरुर पढायै.

फूटी कौड़ी (Phootie Cowrie) से कौड़ी,
कौड़ी से दमड़ी (Damri),
दमड़ी से धेला (Dhela),
धेला से पाई (Pie),
पाई से पैसा (Paisa),
पैसा से आना (Aana),
आना से रुपया (Rupya) बना।
256 दमड़ी = 192 पाई = 128 धेला = 64 पैसा (old) = 16 आना = 1 रुपया

1) 3 फूटी कौड़ी - 1 कौड़ी
2) 10 कौड़ी - 1 दमड़ी
3) 2 दमड़ी - 1 धेला
4) 1.5 पाई - 1 धेला
5) 3 पाई - 1 पैसा ( पुराना)
6) 4 पैसा - 1 आना
7) 16 आना - 1 रुपया

प्राचीन मुद्रा की इन्हीं इकाइयों ने हमारी बोल-चाल की भाषा को कई कहावतें दी हैं, जो पहले की तरह अब भी प्रचलित हैं। देखिए :
●एक 'फूटी कौड़ी' भी नहीं दूंगा।
●'धेले' का काम नहीं करती हमारी बहू !
●चमड़ी जाये पर 'दमड़ी' न जाये।
●'पाई-पाई' का हिसाब रखना।
●सोलह 'आने' सच

Our children n grand children must know the old history of small coins. Our one Rupee was consisting of 256 parts called DAMRI.

 
453
 
286 days
 
dre@m_factory

🙏👇 *जय शिव सदाशिव* 👇🙏

*कौन सी धातु के बर्तन में भोजन करने से क्या क्या लाभ और हानि होती है.......🙏🏼*

*सोना*

सोना एक गर्म धातु है। सोने से बने पात्र में भोजन बनाने और करने से शरीर के आन्तरिक और बाहरी दोनों हिस्से कठोर, बलवान, ताकतवर और मजबूत बनते है और साथ साथ सोना आँखों की रौशनी बढ़ता है।

*चाँदी*

चाँदी एक ठंडी धातु है, जो शरीर को आंतरिक ठंडक पहुंचाती है। शरीर को शांत रखती है इसके पात्र में भोजन बनाने और करने से दिमाग तेज होता है, आँखों स्वस्थ रहती है, आँखों की रौशनी बढती है और इसके अलावा पित्तदोष, कफ और वायुदोष को नियंत्रित रहता है।

*कांसा*

काँसे के बर्तन में खाना खाने से बुद्धि तेज होती है, रक्त में शुद्धता आती है, रक्तपित शांत रहता है और भूख बढ़ाती है। लेकिन काँसे के बर्तन में खट्टी चीजे नहीं परोसनी चाहिए खट्टी चीजे इस धातु से क्रिया करके विषैली हो जाती है जो नुकसान देती है। कांसे के बर्तन में खाना बनाने से केवल ३ प्रतिशत ही पोषक तत्व नष्ट होते हैं।

*तांबा*

तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने से व्यक्ति रोग मुक्त बनता है, रक्त शुद्ध होता है, स्मरण-शक्ति अच्छी होती है, लीवर संबंधी समस्या दूर होती है, तांबे का पानी शरीर के विषैले तत्वों को खत्म कर देता है इसलिए इस पात्र में रखा पानी स्वास्थ्य के लिए उत्तम होता है. तांबे के बर्तन में दूध नहीं पीना चाहिए इससे शरीर को नुकसान होता है।

*पीतल*

पीतल के बर्तन में भोजन पकाने और करने से कृमि रोग, कफ और वायुदोष की बीमारी नहीं होती। पीतल के बर्तन में खाना बनाने से केवल ७ प्रतिशत पोषक तत्व नष्ट होते हैं।

*लोहा*

लोहे के बर्तन में बने भोजन खाने से शरीर की शक्ति बढती है, लोह्तत्व शरीर में जरूरी पोषक तत्वों को बढ़ता है। लोहा कई रोग को खत्म करता है, पांडू रोग मिटाता है, शरीर में सूजन और पीलापन नहीं आने देता, कामला रोग को खत्म करता है, और पीलिया रोग को दूर रखता है. लेकिन लोहे के बर्तन में खाना नहीं खाना चाहिए क्योंकि इसमें खाना खाने से बुद्धि कम होती है और दिमाग का नाश होता है। लोहे के पात्र में दूध पीना अच्छा होता है।

*स्टील*

स्टील के बर्तन नुक्सान दायक नहीं होते क्योंकि ये ना ही गर्म से क्रिया करते है और ना ही अम्ल से. इसलिए नुक्सान नहीं होता है. इसमें खाना बनाने और खाने से शरीर को कोई फायदा नहीं पहुँचता तो नुक्सान भी नहीं पहुँचता।

*एलुमिनियम*

एल्युमिनिय बोक्साईट का बना होता है। इसमें बने खाने से शरीर को सिर्फ नुक्सान होता है। यह आयरन और कैल्शियम को सोखता है इसलिए इससे बने पात्र का उपयोग नहीं करना चाहिए। इससे हड्डियां कमजोर होती है. मानसिक बीमारियाँ होती है, लीवर और नर्वस सिस्टम को क्षति पहुंचती है। उसके साथ साथ किडनी फेल होना, टी बी, अस्थमा, दमा, बात रोग, शुगर जैसी गंभीर बीमारियाँ होती है। एलुमिनियम के प्रेशर कूकर से खाना बनाने से 87 प्रतिशत पोषक तत्व खत्म हो जाते हैं।

*मिट्टी*

मिट्टी के बर्तनों में खाना पकाने से ऐसे पोषक तत्व मिलते हैं, जो हर बीमारी को शरीर से दूर रखते थे। इस बात को अब आधुनिक विज्ञान भी साबित कर चुका है कि मिट्टी के बर्तनों में खाना बनाने से शरीर के कई तरह के रोग ठीक होते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, अगर भोजन को पौष्टिक और स्वादिष्ट बनाना है तो उसे धीरे-धीरे ही पकना चाहिए। भले ही मिट्टी के बर्तनों में खाना बनने में वक़्त थोड़ा ज्यादा लगता है, लेकिन इससे सेहत को पूरा लाभ मिलता है। दूध और दूध से बने उत्पादों के लिए सबसे उपयुक्त हैमिट्टी के बर्तन। मिट्टी के बर्तन में खाना बनाने से पूरे १०० प्रतिशत पोषक तत्व मिलते हैं। और यदि मिट्टी के बर्तन में खाना खाया जाए तो उसका अलग से स्वाद भी आता है।

 
425
 
304 days
 
DDLJ143
LOADING MORE...
BACK TO TOP