Message # 462976

*आँखों* में *शर्म* रहे
और *वाणी नरम* रहे

तो *समझ* लेना
*परम सुख* आपसे
*दूर* नहीं !🙏

 
115
 
64 days
 
anil Manawat
BACK TO TOP