Message # 462881

आज फिर मेरे अल्फ़ाज़ो ने तुम्हें छूना चाहा .....✍️

आज फिर इन्हें समझाया कि तुम मेरे नहीं हो .....💔

BACK TO TOP