Message # 460401

माना चल जाती हैं मुझ पर
चालाकियाँ जिदंगी तेरी..

तेरी होशियारी नही,
यह मासूमियत है मेरी...💞💞💕💕

BACK TO TOP