Message # 459878

इसी उम्मीद में खेले जा रहा हूँ बाज़ी ज़िंदगी की....

कि बाज़ी खत्म होगी तो पत्ते फिर से बांटे जाएंगे....

Comments

@anika: 👌
 
SPARSH
 
69 days
1
LOADING MORE COMMENTS...
BACK TO TOP