Message # 458590

*महाभारत में दुर्योधन ने कृष्ण की नारायणी सेना और अर्ज़ुन ने "ख़ुद" कृष्ण कों मांगा था*

*क्योंकि अर्ज़ुन को "ख़ुद पे" विश्वास था, और उसे "कृष्णरूपी" मार्गदर्शन और आशीर्वाद चाहियें था*

*अगर आपको "ख़ुद पे" यक़ीन है तो अर्ज़ुन की तरह जीवन में "कृष्णरूपी" मातापिता को मांगो*

*"सुख-संपति रूपी" नारायणी सेना अपनेंआप मिल जायेंगी।* 🙏

BACK TO TOP