Message # 458549

*मनुष्य को दुःख का ऋण कभी नहीं भूलना चाहिए क्योकि यह दुःख ही था,

जिसने उसे विनम्र बनाया, दुसरो की पीड़ा को समझना सिखाया, ममता का पाठ पढाया, सांसारिक सत्य को समझने के काबिल मानव बनाया और सबसे श्रेष्ठ यह की दुःख ने ही उसे परमात्मा का सुमिरन करवाया..!*👌🙏

 
133
 
78 days
 
anil Manawat

Comments

True
 
Gitu
 
78 days
1
LOADING MORE COMMENTS...
BACK TO TOP