Message # 457841

कर दू दूर हर मायुसी तेरी, कर दू हर ख्वाहिश पूरी तेरी,
पर क्या करु.. ऐ दोस्त
कुछ मेरे हालात है ऐसे, कुछ झालिम बेबशी ऐसी...
😓😓😓

BACK TO TOP