Message # 457206

नई-नई देवरानी को जेठानी ने पूछा:- *रात कैसी जा रहीं हैं ?*

देवरानी:- आपका देवर तो *घोड़े जैसा* हैं.. हंमेशा *घोड़ी बनाकर* ऱखता हैं, सांस भी नहीं लेनें देता हैं, *गज़ब की ताकात हैं!*

जेठानी:- लेकिन ईतनी *शांत और सर्दी* की रात में *आवाज़* तो कुछ नही आ रहीं ?

देवरानी:- तो उनसे आज़ कहूंगी कि *लखोटे पे घुंघरू बांध के* चोदे.. *जिससे परिवार के सभी का मन लगा रहें!*
😝🌽🔔😂😂😂😂

BACK TO TOP