Message # 457114

मेरी आँखों में यही हद से ज्यादा बेशुमार है,

तेरा ही इश्क़, तेरा ही दर्द, तेरा ही इंतज़ार है।
🌹

 
165
 
77 days
 
Paraskumar Pande
BACK TO TOP