Message # 457104

*शब्दों का भी अपना एक स्वाद है*

*बोलने से पहले स्वयं चखना चाहिए*

*अगर स्वयं को ही अच्छा न लगे*

*तो दूसरों को कैसे अच्छा लगेगा*🙏

 
210
 
194 days
 
anil Manawat
BACK TO TOP