Message # 455430

एक तो ये सर्द हवायें
ऊपर से तुम्हारी बेरुखी
दोनों एक साथ कैसे
सहे हम.....
💞

 
167
 
51 days
 
Paraskumar Pande
BACK TO TOP