Message # 454152

*मुझमें और किस्मत में,*
*हर बार बस यही जंग है |*
*मैं उसके फैसलो से तंग,*
*वो मेरे होंसले से दंग है |*🙏

 
212
 
171 days
 
anil Manawat
BACK TO TOP