Message # 453952

सफर-ए-महौब्बत अब खतम ही समझिए साहब.....!


उनके रवैये से अब जुदाई की महक अाने लगी है.....!

BACK TO TOP