Message # 451829

एक बड़े से बगीचे में__एक टूटी फूटी सी बेंच पर__ खुले अंधेरे आसमान में टिमटिमाते हुए हजारों तारों के बीच__एक चमकते चाँद के निचे__तुम मेरे काँधे पर सर रखकर मेरे पास बैठे रहो__ #बस_यही_ख्वाब_है_मेरा√√😍😍

BACK TO TOP