Message # 451353

कुछ ख़ताएँ बख़्शी नहीं जाती , दिल सोच समझ कर तोड़ा कीजिए 💔😢

BACK TO TOP