Message # 449585

फ़िराक़ में खुद को यूं उलझा रहा हूँ,
तेरी तस्वीर बना रहा हूँ मिटा रहा हूँ ।

BACK TO TOP