Message # 449451

तेरी आँखों के इशारों का सबब..
मुझ तक ही खोया है..
कोई और समझने लगे...
तो फना हो जाए....

BACK TO TOP