Message # 448651

बेहतर है मौत फिर भी.. कि देती तो है कफ़न...

अगर ज़िन्दगी का बस चले.. कपड़े उतार ले...

BACK TO TOP