Message # 447672

चेहरा देखकर इंसान को प चानने की कला थी मुझमें,
तकलीफ तो तब हुई हर इंसान के पास कई चेहरे देखे....✍

BACK TO TOP