Message # 446431

💞*तुम प्यार का मंदिर*,

*मे तेरे प्रेम का दीप*

*यूँही आती रहो मेरे दिल के समीप*..!💞

 
225
 
130 days
 
anil Manawat
BACK TO TOP