Message # 444277

मैं चला शराबखाने जहां कोई गम नहीं है,
जिसे देखनी है जन्नत साथ-साथ आए।

 
173
 
264 days
 
Parveen Unlucky
BACK TO TOP