Message # 443538

मुझसे नहीं कटतीं अब ये तन्हा उदास रातें,
कल सूरज से कहूँगा मुझे अपने साथ ले कर डूबे !

BACK TO TOP