Message # 441539

*जीता रहा मैं... दुनिया का कायदा नही देखा...*

*रिश्ता निभाया तो दिल से निभाया... कभी फायदा नही देखा...!!*

BACK TO TOP