Message # 441403

इतने मशरूफ़ कहाँ हो गए तुम आजकल..
हम जिन्दा हैं या मुर्दा तुम देखने नहीं आते..!

BACK TO TOP