Message # 439432

तेरी बगिया का हूँ मैं फूल- खिलाए रखना
धूल हूँ चरणो की बस- धूल ही बनाए रखना
धूल भी बन सकु तेरी- मेरी औकात है क्या
बस जैसा हूँ तेरा हूँ- अपना बनाए रखना....

सबका मालिक एक 🖕

ॐ साई राम जी🙏🏾

BACK TO TOP