Message # 439419

SAI SHRADHA
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
"भाँती भाँती की भाषा हैं,
भाँती भाँती के प्रदेश...
भाँती भाँती के लोग हैं,
भाँती भाँती के भगवान...
मत कर भेद भाव तू,
खून सबका एक...
के गए मेरे साईं जी की
सबका मालिक एक"... 🌹🌹

BACK TO TOP