Message # 436180

*अपने ही अपनों से करते है अपनेपन की अभिलाषा.*

*पर अपनों ने ही बदल रखी है, अपनेपन की परिभाषा !!*

BACK TO TOP