Message # 424401

जीवरक्षा का भाव धर्मी जीव को सहज होता ही है।

इशारा है रात्रिभोजन त्याग का

समझदार को.....

टीम वीर गुरुदेव

 
13
 
137 days
 
Sunil Lalwani
BACK TO TOP